जिलाधिकारी की मिशन अन्त्योदय के अन्तर्गत चयनित ग्राम लमकना दूबेपुर में चैपाल
विकास कार्यों का स्थलीय सत्यापन तथा निराश्रितों को कम्बल वितरण। 
सुलतानपुर अरुण साहू
 जिलाधिकारी हरेन्द्र वीर सिंह ने अपने शीतकालीन भ्रमण के दौरान आज जनपद के कूरेभार ब्लाक अन्तर्गत मिशन अन्त्योदय के अन्तर्गत चयनित ग्राम लमकना दूबेपुर में चैपाल लगाकर राजस्व व विकास कार्यों का स्थलीय सत्यापन किया तथा ग्रामीणों की समस्याओं को सुना एवं सम्बन्धित को त्वरित निस्तारण के निर्देश दिये।
चैपाल कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुये जिलाधिकारी ने ग्रामीणों को आश्वासन देते हुये कहा कि शासन की मंशानुसार विकास योजनाओं को पूरी पारदर्शिता के साथ संचालित किया जा रहा है। उन्होंने ग्राम प्रधान को निर्देशित किया कि वे लाभार्थियों के चयन में पूरी पारदर्शिता व निष्पक्षता वरतें, जिससे सही लोगों का चयन हो सके। जिलाधिकारी ने कहा कि वर्तमान सरकार की मंशा गरीब व निर्बल वर्ग के व्यक्तियों का उत्थान तथा किसानों की आय को 2022 तक दोगुना करना है। इस सम्बन्ध में किसानों तथा गरीबों के लिये अनेक कल्याणकारी योजनाएं संचालित की गयी हैं। उन्होंने समीक्षा में पाया कि इस गांव में प्रधानमंत्री आवास योजना के अन्तर्गत 33 लोगों को चिन्हित किया गया है, जिन्हें आवास निर्माण हेतु धनराशि भेजी जा चुकी है। अब तक 09 आवास पूर्ण हो चुके हैं। उन्होंने खण्ड विकास अधिकारी को निर्देशित किया कि वह यथाशीद्य्र आवासों को पूर्ण कराना सुनिश्चित करायें। इस ग्राम में 37 लोगों को स्वच्छ शौचालय हेतु धनराशि दी गयी है तथा गांव में 54 हैण्डपम्प स्थापित हैं। इस गांव के 53 लोगों को वृद्धापेंशन, 32 को विधवा पेंशन तथा 10 लोगों को दिव्यांग पेंशन मिल रही है। इस गांव के 14 किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड दिया गया है तथा 11 को बीज प्रतिस्थापन की सुविधा दी गयी है। किसान पारदर्शी योजना के अन्तर्गत इस गांव के 251 किसानों का पंजीकरण किया गया है। 
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी राधेश्याम ने ग्रामीणों का आवाहन् किया कि वे विकास योजनाओं के प्रति जागरूक होकर योजनाओं का लाभ उठायें। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) तथा स्वच्छ शौचालयों के निर्माण में शिकायतें मिल रही हैं कि कतिपय लोग लाभार्थियों से धनउगाही कर रहे हैं। इस सम्बन्ध में जांच करायी जा रही है तथा संलिप्तता पाये जाने पर सम्बन्धित के विरूद्ध कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने कहा कि ग्रामीणजन इस प्रकार की शिकायत को फोन द्वारा उन्हें अथवा जिलाधिकारी महोदय के संज्ञान में ला सकते हैं। चैपाल कार्यक्रम का संचालन करते हुये जिला विकास अधिकारी डाॅ.डी.आर.विश्वकर्मा ने स्वच्छता कार्यक्रम, प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण), राज्य पोषण मिशन, प्रधानमंत्री मातृ बन्दना योजना सहित विभिन्न विकास कार्यक्रमों के बारे में ग्रामीणों को विस्तार से जानकारी दी। 
चैपाल कार्यक्रम में जिलाधिकारी ने 11 निराश्रित एवं निर्बल वर्ग के लोगों को कम्बल का वितरण तथा 10 लोगों को स्वच्छ शौचालय का स्वीकृत पत्र एवं 04 लोगों को प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) का प्रमाण-पत्र वितरित किया। चैपाल कार्यक्रम में संयुक्त मजिस्ट्रेट/उपजिलाधिकारी जयसिंहपुर प्रणय सिंह ने राजस्व कार्यों के बारे में जानकारी दी। इस अवसर पर पी.डी. एस.के.द्विवेदी, डी.सी.एन.आर.एल.एम. बी.बी.सिंह, डी.सी.मनरेगा विनय कुमार श्रीवास्तव, उपनिदेशक कृषि शैलेन्द्र शाही, जिला सूचना अधिकारी आर.बी.सिंह, सी.वी.ओ. डाॅ. अजीत सिंह, समाज कल्याण अधिकारी आर.सी.दूबे, जिला पूर्ति अधिकारी संजय कुमार प्रसाद, जिला कृषि रक्षा अधिकारी अरूण कुमार त्रिपाठी, खण्ड विकास अधिकारी अंजलि सरोज तथा ग्राम स्तरीय कर्मी, ग्रामीणजन व सम्बन्धित उपस्थित थे। चैपाल में विभिन्न विभागों के अधिकारियों ने विभागीय योजनाओं की जानकारी दी।

Post A Comment: