सूरज कुमार (उन्नाव ब्यूरो)की खास रिपोर्ट
बोर्ड परीक्षाए कुछ रोज में विद्युत विभाग मौज में
उन्नाव
बोर्ड परीक्षाओं की स्कीम आते ही सभी छात्र और छात्राएं लगातार रात और दिन में कठिन परिश्रम कर बोर्ड परीक्षा में अच्छे अंक लाने की कोशिश में रहते है। यंहा तक कई स्टूडेंट तो पूरी रात जागकर पढ़ाई करते है। और करना भी चाहिए, क्योंकि यही हमारे आने वाले कल का भविष्य है और नए भारत के नए योद्धा, नेता, बिज़नेस मैन, वैज्ञानिक इत्यादि है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार 6 फरवरी 2018 से यूपी बोर्ड हाईस्कूल औऱ इंटरमीडिएट की परीक्षा एक साथ शुरू हो रही है। लेकिन व राज्य सरकार ने जहाँ सभी को 24 घंटे बिजली प्रदान करने का दावा किया है। वही बिजली विभाग सरकार के साथ विस्वास घात कर रहा है। क्योंकि जहाँ 24 घंटे बिजली के दावे  है वहीं 12 घंटे से भी कम बिजली उपलब्ध हो पाती है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक मगरवारा उन्नाव स्थित ऊर्जा ग्रह से कई जगहों पर बिजली गयी है,लेकिन यहाँ गाँवो में बिजली सिर्फ आठ घंटे ही आती है। जिससे ग्रामीणों को तो जो दिक्कत होती है सो होती है उसके साथ साथ ग्रामीण इलाकों में बोर्ड की पढ़ाई करने वाले बच्चों  को भी बड़ी मुसीबत का सामना करना पड़ता है। क्योंकि बिजली रात को 12 बजे के बाद विभागीय अधिकारियों की महिमा से दर्शन देती  है। और सुबह 8 बजे चली जाती है। इसके बाद बिजली आने का कोई समय नही आएगी तो सिर्फ 1 या 1.5 घण्टे के लिए और फिर रात 12 बजे आएगी ।इस तरह से हो रही  नियमित बिजली कटौती से बोर्ड परीक्षार्थियों के साथ -साथ आम जनमानस भी इतना  परेशान है कि कई लोगों ने तो बिजली के कनेक्शन ही कटावा दिए है। कई हाईस्कूल और इंटरमीडिएट के परीक्षार्थियों से मिलकर इस गंभीर समस्या के विषय मे बात की गई तो कई मत सामने आए कुछ विद्यार्थियों ने केंद्र सरकार को कोशा और कुछ ने राज्य सरकार को व कुछ ने विद्युत विभाग को । लेकिन सिर्फ कोसने इस समस्या का समाधम नही होगा।

Post A Comment: