पूर्व सीएम सह  राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को चारा घोटाला में साढ़े तीन साल की सज़ा हो गयी


 
पी न्यूज़ डेक्स बिहार झारखण्ड :
रांची के  विशेष सीबीआई अदालत ने आरजेडी अध्यक्ष सह पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव को चारा घोटाला में साढ़े तीन साल की सज़ा के साथ 5लाख अर्थ दंड की सजा सुनाया  है। सज़ा के वक्त लालू यादव वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए जेल से ही पेश हुए।अगर जुर्माना की राशि जमा नहीं करेगा तो  6 महीने औरअतिरिक्त सजा काटनी पड़ेंगी  लालू यादव के वकील की तरफ से सज़ा में नरमी की अपील की गई थी। लालू यादव इस वक्त रांची के बिरसा मुंडा सेंट्रल जेल में बंद हैं। अरबों रुपये के चारा घोटाले के नियमित मामले 64ए/96 में दोषी करार दिये गये राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष एवं बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव समेत 16 अभियुक्तों की सजा के बिंदुओं पर केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की विशेष अदालत में शुक्रवार को सुनवाई पूरी हो गई। तेजस्वी यादव ने कहा कि लालू यादव को लगातार विपक्षी द्वारा निशाना बनाया जा रहा है। वह पूरी तरह से बेकसूर हैं। उधर, लालू के वकील ने कोर्ट में रहम बरतने की अपील करते हुए कहा कि लालू की उम्र 70 साल हो गई है। उन्हें कई तरह की बीमारियां भी हैं। उनके हार्ट का वाल्व बदला गया है। डायबिटीज और ब्लड प्रेशर की भी शिकायत है। ऐसे में उन्हें कम से कम सजा मिलनी चाहिए। शुक्रवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग से लालू और पूर्व मंत्री आरके राणा की पेशी हुई और सजा पर सुनवाई हुई।लालू के वकील ने कहा कि लालू 21 साल से इस मामले में मुकदमा झेल रहे हैं। जब जब कोर्ट ने बुलाया वह हाजिर हुए।कोर्ट के ट्रायल में हमेशा सहयोग किया। सुप्रीम कोर्ट के कुछ फैसले का हवाला देकर कहा गया कि इतनी लंबी अवधि तक मुकदमा लड़ना सजा से कम नहीं है। ऐसे में उन्हें कम से कम सजा मिलनी चाहिए।  अन्य आरोपियों की ओर से भी ऐसा ही आग्रह किया गया।वहीं सीबीआई अदालत के जज को जो उचित सजा समझ में आई वहीं सजा मुकर्रर की गई। 

Post A Comment: