स्वतंत्रता आंदोलन के महत्वपूर्ण सेनानी थे स्वतंत्रता सेनानी स्व.भुल्लर ठाकुर

पटेढ़ी बेलसर,वैशाली से अभिषेक कुमार की रिपोर्ट :

भारतीय स्वाधीनता के संग्राम में न जाने कितने सेनानियों ने भाग लिया परंतु हमने सिर्फ उन सेनानियों के बारे में जाना जिनके विषय में हमें बताया गया । पर अभी भी ऐसे कई गुमनाम सेनानी हैं जिनके बारे में न हमें किसी ने बताया और न हमने जाना । इस बिडम्बना को देख आश्चर्य होता है कि किसी सेनानी का महिमामंडन बड़े भारी पैमाने पर हुआ और कईयों के प्रति उदासीनता बरती गई। स्वतंत्रता सेनानी के सम्मान के नाम पर महज सरकारी पेंशन और ताम्रपत्र दे देना ही उन सेनानियों का उचित सम्मान नहीं बल्कि उनके जन्मदिवस और पुण्यतिथि को सरकार तथा आमजनों द्वारा मनाने से उन सेनानियों को उनका उचित सम्मान मिलेगा लेकिन हमारे ऐसे कई सेनानी अपना सब कुछ देश के लिए लुटाकर भी गुमनाम हैं ये हमारी सबसे बड़ी विफलता और दुर्भाग्य है। ऐसे ही एक सेनानी पटेढ़ी बेलसर के मानपुरा गाँव मे महान विभूति स्व.युगेश्वर बाबू थे । अपना तन मन धन लगाकर ,अपना सर्वस्व न्यौछावर कर देश की आजादी के लिए लड़ने का उन्हें क्या ईनाम मिला ,एक ताम्र पत्र और कुछ रुपए मासिक पेंशन । अधिकांश लोग उन्हें जानते नहीं हैं । अगर सरकार द्वारा सभी सरकारी कार्यालयों एवं विद्यालयों में उनके जन्मदिन और पुण्यतिथि को मनाए जाने की व्यवस्था की जाती तब जाकर कहीं लोग खासकर युवा पीढ़ी उनके उस फौलादी काम में योगदान को समझती और तब जाकर उनके बलिदान को एक उचित सम्मान मिलता । अब जब सरकार इनके प्रति उदासीन है तो हम आमजनों को सजग होकर इनके स्वाधीनता संग्राम में इनके योगदान एवं बलिदान को इनके जन्मदिन तथा पुण्यतिथि पर श्रद्धा पूर्वक स्मरण और नमन करना चाहिए जिससे उन वीरों को उनके उत्कृष्ट कार्य का उत्कृष्ट ईनाम मिल सके।
            इसी कड़ी में आज युवा समाजसेवी विक्रम कुमार के द्वारा  वीर सेनानी युगेश्वर प्रसाद ठाकुर उर्फ भुल्लर ठाकुर के पुण्यतिथि की पूर्व संध्या पर एक कार्यक्रम आयोजित कर मित्रों एवं छात्र छात्राओं के साथ उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किया तथा स्मरण किया।  ठाकुर बाबा के बलिदान की कहानी सुन बच्चे काफी रोमांचित हुए फिर हम सभी ने अपने आपको गौरान्वित महसूस किया कि हम इतने बड़े सेनानी के मिट्टी से ताल्लुक रखते हैं। इस कार्यक्रम में मुख्य रुप से विशाल कुमार ,कृष्णा राज सोनी ,धीरेन्द्र राज,विवेक कुमार ,गौरव सोनी ,गौरव कुमार, रितिका राज,खुशी कुमारी, अर्पिता कुमारी, अमृता कुमारी तथा काजल कुमारी ने उन्हें पुष्पांजलि अर्पित कर उनके योगदान तथा बलिदान को श्रद्धा पूर्वक याद किया।

Post A Comment: