पानीपत(सुनील वर्मा) : पानीपत रिफाइनरी के नैफ्था क्रैकर प्लांट में आज जोरदार धमाका हुआ। यह धमाका प्लांट की स्विंग यूनिट में
हुआ। इस धमाके में प्लांट के एक पाइप पर लगी वॉल फट गई, जिसमे गर्म प्लास्टिक दाना भरा था। इस हादसे में आईओसीएल के एक मैनेजर और दो कर्मचारियो की मौत हो गई। वही 5 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए, जिन्हें पानीपत के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

धमाके के बाद 300 मीटर दूर जाकर गिरे लोग -
घटना आज दोपहर 12:30 बजे की है। यहां स्विंग यूनिट में काम चल रहा था। लेबर के साथ आईओसीएल के मैनेजर ज्ञान दत्त भी वही मौजूद थे। इसी दौरान गर्म प्लास्टिक दाने से भरे एक पाइप की वॉल धमाके के साथ फट गई। धमाका इतना तेज था कि वहां काम कर रहे लोग 300 मीटर दूर जाकर गिरे। धमाके की चपेट में आने से मैनेजर ज्ञान दत्त और कर्मचारी मोहन लाल समेत अन्य एक कर्मचारी की मौत हो गई। वहीं पांच लोग गम्भीर घायल है। जिनको एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

मृतक के परिजन कर रहे है नारेबाजी -
मृतक मोहनलाल के परिजन घटना के बाद से विरोध कर रहे हैं। उनकी मांग है कि मृतक के परिजनों को एक करोड़ रुपए मुआवजा दिया जाए। 

मीडिया को नहीं जाने दिया जा रहा है अंदर -
रिफाइनरी के सुरक्षाकर्मियों ने मीडिया को प्लांट के अंदर नही जाने दिया। घटनास्थल पर किसी को भी अंदर जाने नहीं दिया जा रहा था।

Post A Comment: