यूपी इन्वेस्टर्स समिट 2018- पीएम मोदी ने कहा, अब यूपी भी सुपरहिट परफॉरमेंस के लिए तैयार
हिमांसु गर्ग की रिपोर्ट :

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने राजधानी लखनऊ में दो दिनों के इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन किया है। इस समिट का उद्घाटन बुधवार को प्रधानमंत्री मोदी ने किया। इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी ने यहां एक एग्जिविशन भी देखी।प्रधानमंत्री मोदी सुपबह लखनऊ पहुंचे जहां राज्यपाल राम नाईक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, उपमुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा सहित दर्जन भर मंत्रियों ने उनका स्वागत किया।

समिट को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा अब उत्तर प्रदेश भी सुपरहिट परफॉरमेंस के लिए तैयार है। उन्होंने 5 पी का मंत्र दिया। उन्होंने कहा कि पोटेंशियल + पॉलिसी + प्लानिंग + परफॉर्मेंस से ही प्रोग्रेस आती है। जब परिवर्तन होता है तो दिखने लगता है। यूपी में अब परिवर्तन दिखने लगा है। इसके लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनकी टीम को बधाई। पहले ये सब कुछ भय और असुरक्षा के माहौल की वजह से नहीं हो सका था।

उन्होंने कहा कि यूपी में में संसाधनों की कमी नहीं है। यूपी में हर दौर में एक अलग पहचान रही है। लखनऊ के चिकन का काम मशहूर है तो मलीहाबाद के आम पूरी दुनिया में मशहूर हैं। आज जो झलक दिखाई दे रही है वो झलक यूपी के कल्चर की ही नहीं एग्रीकल्चर की भी है।योगी सरकार पूरी गंभीरता के साथ अपने वादे पूरी कर रही है।

महाराष्ट्र सरकार ने ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी का लक्ष्य रखा है। मैं एक विचार रखना चाहता हूं। क्या महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश में इस बात कि कंपीटीशन हो सकता है कि कौन पहले ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी का लक्ष्य हासिल करेगा?" उन्होंने कहा कि यूपी की अर्थव्यवस्था में सूक्ष्म-लघु एवं मध्यम उद्योगों- जिन्हें हम एमएसएमई कहते हैं, उनका बहुत बड़ा योगदान है। एग्रीकल्चर के बाद इस सेक्टर में ही रोजगार के सबसे ज्यादा अवसर बनते हैं। उन्हें खुशी है कि उत्तर प्रदेश सरकार ने इस महत्वपूर्ण तथ्य को ध्यान में रखते हुए 'वन डिस्ट्रिक-वन प्रोडक्ट' योजना शुरू की है।

इस दौरान पीएम मोदी ने घोषणा करते हुए कहा कि इस साल बजट में प्रस्ताव रखा गया था कि देश दो डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरीडोर बनाए जाएंगे।इनमें से एक कॉरीडोर उत्तर प्रदेश में प्रस्तावित है। बुंदेलखंड के विकास को विशेषतौर पर ध्यान में रखते हुए, यह तय किया गया है कि यूपी में डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर का विस्तार आगरा, अलीगढ़, लखनऊ, कानपुर, झांसी और चित्रकूट तक किया जाएगा। इस कॉरीडोर से 2.5 लाख लोगों रोजगार मिलेगा।

उन्होंने कहा कि ''ऐसा इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार करेंगे, जो उत्तर प्रदेश को 21वीं सदी में नई बुलंदियों पर ले जाएगा। यूपी में दो कुशीनगर और जेवर में दो अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट बन रहे हैं। वह पहले भी कह चुके हैं कि हवाई चप्पल पहनने वाला भी हवाई यात्रा कर सकेगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि वह इस कार्यक्रम में सभी का स्वागत करते हैं। प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन से उत्तर प्रदेश को बीमारू राज्य से विकसित राज्य की ओर ले जाने की कोशिश कर रहे हैं। प्रधानमंत्री का समय समय पर जो मार्गदर्शन मिलता है।आज भी इस घड़ी पर भी वे खुद मार्गदर्शन के लिए उपस्थित हैं । 

इससे पहले जी एक्सेल ग्रुप के चेयरमैन सुभाष चंद्रा ने भी यूपी में 18 हजार 750 करोड़, महिंद्रा एंड महिंद्रा ग्रुप के आनंद महिंद्रा ने करोड़ों, बिड़ला ग्रुप के कुमार मंगलम बिड़ला ने अलग अलग क्षेत्र 25 हजार करोड़, अडानी ग्रुप के प्रमुख गौतम अडानी ने 35 हजार करोड़, मुकेश अंबानी ने रिलायंस जियो के माध्यम से तीन साल में 10 हजार करोड़ का निवेश करने की घोषणा की।

गौरतलब है कि यूपी सरकार ने समिट के लिए 4000 लोगों को न्यौता भेजा गया है, जिसमें कई नामी हस्तियां शामिल हैं। सरकार का दावा है कि करीब 3 लाख करोड़ रुपये के निवेश की जमीन तैयार हो चुकी है।समिट में कारोबार जगत के बड़े-बड़े सूरमा मौजूद हैं। मुकेश अंबानी, रतन टाटा, कुमार मंगलम बिड़ला, सुधीर मेहता, संजीव गोयनका, गौतम अडाणी और पवन मुंजाल समेत देशभर के टॉप उद्योगपति पीएम और यूपी के सीएम के साथ निवेश को लेकर बैठक भी करेंगे।

Post A Comment: