पी न्यूज़ डेक्स :बिहार :
गंगा नदी के जीर्णोद्धार 
 एवं  प्रदूषण मुक्त करने को लेकर पटना में महत्वपूर्ण बैठक हुई , इस बैठक में बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, मगध विश्वविद्यालय के वीसी प्रोफेसर कमर अहसन,  स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी की देवप्रिया मंडलमैनचेस्टर विश्वविद्यालय के डॉ डेविड पोल्या भी शामिल हुईं|
डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने कहा कि क्लायमेट चेंज और प्रदूषण आने वाले दिनों में सबसे बड़ी चुनौती है और इसका  प्रभाव कृषि और कृषि उत्पादकता पर ही पड़ेगा. इससे बीमारियां भी बढ़ेगी और प्रदूषण से बुरा हाल होगा. मोदी ने कहा कि हम इसको चुनौती के रूप में ले रहे हैं|
बिहार के पानी में मुख्य तौर पर फ्लोराइड, आयरन और आर्सेनिक मात्रा की अधिकता है. दिसम्बर 2019 तक राज्य के सभी लोगों के लिए पीने के पानी को आर्सेनिक मुक्त बना लिया जायेगा. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने इसके लिए 391 करोड़ रुपये की राशि मुहैया करायी है|

Post A Comment: