सुलतानपुर से अरुण साहू 
 जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी (पं.) संगीता सिंह ने कहा कि आगामी 22 फरवरी को होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत उपनिर्वाचन को निष्पक्ष, स्वतंत्र व शांतिपूर्ण ढ़ंग से सम्पन्न कराने की पूरी जिम्मेदारी सम्बन्धित सेक्टर मजिस्ट्रेटों एवं मतदान कार्मिकों की होगी। सभी कार्मिक सूझबूझ के साथ अपने दायित्वों का निर्वहन कर स्वतंत्र  व निष्पक्ष मतदान सम्पन्न करायें। जिलाधिकारी आज विकास भवन में त्रिस्तरीय पंचायत उपनिर्वाचन में नियुक्त सेक्टर मजिस्ट्रेटों तथा मतदान कार्मिकों के प्रशिक्षण को सम्बोधित कर रही थी। 
जिलाधिकारी ने कहा कि मतदान कार्मिक किसी बाहरी व्यक्ति का आतिथ्य स्वीकार नहीं करेंगे , जिससे उनके आचरण व कार्य पर प्रश्नचिन्ह लग सके। उन्होंने कहा कि सभी मतदान कार्मिक इस प्रशिक्षण को पूरी गम्भीरता से लेते हुए मतदान सम्बन्धी सभी जानकारी प्राप्त कर लें, जिससे उन्हें निर्वाचन के समय कोई असुविधा न हो। समयबद्धता पर विशेष बल देते हुए उन्होंने कहा कि पोलिंग पार्टियां सम्बन्धित ब्लाकों से 21 फरवरी को प्रस्थान करेंगी। मतदान कार्मिक 21 फरवरी को अपने से सम्बन्धित ब्लाक मुख्यालय पर प्रातः 08.00 बजे पहुंचना सुनिश्चित करें तथा मतदान सम्बन्धी सभी आवश्यक सामग्री प्राप्त कर तथा उसका सूची से मिलान करने के उपरान्त ही अपने सेक्टर मजिस्ट्रेट की अनुमति से मतदान केन्द्र के लिए एक साथ रवाना होंगे। उन्होंने कहा कि किस मतदान कार्मिक की किस बूथ पर ड्यूटी लगाई गयी है, उसकी जानकारी उसे पोलिंग पार्टियों के प्रस्थान के समय ही दी जायेगी। 
जिलाधिकारी ने सभी सेक्टर मजिस्ट्रेटों को निर्देशित करते हुऐ कहा कि सभी सेक्टर मजिस्ट्रेट 20 फरवरी को अपने से सम्बन्धित मतदान केन्द्रों का भ्रमण कर सायं 05.30 बजे कलेक्ट्रेट में आहूत बैठक में रिर्पोट के साथ उपस्थित रहें। उन्होंने कहा कि सेक्टर मजिस्ट्रेट 21/22 फरवरी की रात्रि में अपने से सम्बन्धित सेक्टर मुख्यालय पर रात्रि विश्राम करेंगे तथा 22 फरवरी को यह सुनिश्चित करायंेगे कि सभी मतदान बूथों पर प्रातः 07.00 बजे मतदान की प्रक्रिया प्रारम्भ हो जाय। सभी सेक्टर मजिस्ट्रेट अपने से सम्बन्धित बूथों का निरन्तर भ्रमण करेंगे। जिलाधिकारी ने कहा कि मतदान केन्द्र के अन्दर एजेन्ट तथा मतदाता मोबाइल नहीं ले सकेंगे। उन्होंने बताया कि मतदान को शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराने हेतु 04 जोनल मजिस्ट्रेट तथा 09 सेक्टर मजिस्ट्रेटों की तैनाती की गयी है। 
इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी (प्रशासन)/उपजिला निर्वाचन अधिकारी बी.डी.सिंह ने बताया कि पोलिंग पार्टियां सम्बन्धित ब्लाक मुख्यालयों से प्रस्थान करेंगी तथा मतदान की समाप्ति के उपरान्त ब्लाक मुख्यालय पर बने स्ट्रांग रूम में मतपेटिकाएं व आवश्यक प्रपत्र जमा करने के उपरान्त सेक्टर मजिस्ट्रेट की अनुमति से ब्लाक मुख्यालय छोड़ेगे। 
इस अवसर पर प्रभारी अधिकारी मतदान कार्मिक /जिला विकास अधिकारी डाॅ.डी.आर.विश्वकर्मा ने सेक्टर मजिस्ट्रेटों तथा मतदान कार्मिकों को मतदान प्रक्रिया, मतदान कार्मिकों के कर्तव्य, टेण्डर मत, मतदान हेतु प्रयोग किये जाने वाले 16 पहचान पत्र आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी तथा उनकी जिज्ञासाओं का भी समाधान किया। उन्होंने कहा कि मतदान केन्द्र के 100 मीटर की परिधि में कोई भी प्रत्याशी चुनाव प्रचार नहीं करेगा। वह मतदान केन्द्र के 200 मीटर परिधि के बाहर एक मेज व दो कुर्सी लगाकर बैठ सकता है, लेकिन कोई भी प्रचार सामाग्री उसपे नहीं रहेगी। उन्होंने प्रशिक्षण में मतपेटिका खोलने तथा बंद करने,  एजेन्ट बनाने आदि के बारे में जानकारी दी। 
प्रशिक्षण में उपजिलाधिकारी सदर प्रमोद पाण्डेय, प्रशिक्षण अधिकारी डी.एन.सचान, जिला सूचना अधिकारी आर.बी.सिंह व सम्बन्धित उपस्थित थे।

Post A Comment: