बजट में शिवहर की रेल परियोजना पर पुनः विचार न किये जाने पर होगा जोरदार आंदोलन


दिलीप कुमार पाण्डेय/शिवहर 



शिवहर के लोगो को है रेल का इंतज़ार
इस ठंड के मौसम में भी रेल बजट आने का दिन नजदीक आने के साथ ही रेल के मुद्दे पर जिले का राजनीतिक पारा गर्म होता जा रहा हैं
 रेल बजट लेकर एक ओर लोगो को उम्मीद है शिवहर की रेल परियोजना को शुरू किया जाएगा या बजट में शामिल किया जाएगा वही दूसरी ओर सामाजिक संगठन आंदोलन के लिए कमर कस रहे है.
हर चौक चौराहे पर यही चर्चा का विषय है क्या आगामी बजट में जिले को रेल मिलेगा इतिहास में पहली बार टीवी पर रेल बजट इस लिए लोग देखेंगे कि क्या जिले के लोगो को इस बार रेल के मुद्दे पर न्याय मिलेगा. कुछ लोगो का कहना है प रघुनाथ झा चाहते थे कि शिवहर में रेल चले शिवहर में रेल चलना ही रघुनाथ झा को सच्ची  श्रद्धांजलि होगी
वहीं कुछ लोगों का कहना है कि जिले को जानकी सर्किट से जुड़ने का सही लाभ तब मिल पाएगा जब शिवहर को रेल लाइन से जोड़ा जाए क्योंकि रेल लाइन आने से यहां तेजी से विकास होगा विशेषकर व्यवसायिक वर्ग को सबसे ज्यादा लाभ होगा और से जिले का चौतरफा विकास होगा 
वहीं दूसरी और

संघर्षशील युवा अधिकार मंच जुड़ें आरटीआई कार्यकर्ता मुकुंद प्रकाश मिश्र ने रेल मंत्री से मांग किया है कि इस बजट में बापूधाम मोतिहारी सीतामढ़ी भाया शिवहर रेल परियोजना को पुन: रेलवे बजट में शामिल किया जाए और इस परियोजना का निर्माण कार्य यथा शीध्र शुरू कराने के लिए पर्याप्त मात्रा में धन उपलब्ध कराया जाए कहा अगर इस बजट में बापूधाम मोतिहारी सीतामढ़ी भाया शिवहर रेल परियोजना को नही शामिल किया गया तो इसका केंद्र सरकार और सत्ता धारी पार्टी को गंभीर परिणाम भुगतना पड़ सकता है क्योंकि केंद्र सरकार का यह आखिरी बजट है और इसमें अगर रेलवे परियोजना पर विचार नहीं किया गया तो शिवहर का एक एक लोग सड़क पर उतरकर संघर्ष करेगा और आंदोलन तेज होने की उम्मीद है कहा संघर्षशील युवा अधिकार मंच का कार्यकर्ता सड़क पर उतर कर प्रदर्शन करेगा कहा बजट में सकारात्मक परिणाम नहीं आया तो सत्ताधारी पार्टी शिवहर से लोकसभा चुनाव हार भी सकती है ,जनता की मांग है और इसको किसी भी हाल में पूरा किया जाना चाहिए नहीं तो लोगों में सत्ता सियासत एवं व्यवस्था के खिलाफ असंतोष का लहर पैदा हो जाएगा  जो लोकतंत्र के लिए शुभ संकेत नहीं है  लोगों का विश्वास राजनीतिक व्यवस्था से उठ जाएगा साथ ही उन्होंने शिवहर के सभी राजनीतिक दल के लोगों से एक होकर रेल के मुद्दे पर संघर्ष करने का अनुरोध किया कहा कि सभी राजनीतिक और सामाजिक संगठन मिलकर रेल के लिए संघर्ष करेंगे तो यथाशीघ्र निश्चित रूप से शिवहर में रेल लाइन का निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा राजनीतिक लोगो को दलगत भावना से ऊपर उठ कर शिवहर में रेल चले इसके लिए संघर्ष करना होगा उन्होंने एक बार पुनः कहां रेलवे सेवा के जनता की मांग है और इसको किसी भी हाल में पूरा किया जाना चाहिए

Post A Comment: