भोजपुरी फिल्मों की दमदार अभिनेत्री


अनूप नारायण सिंह
डॉ अर्चना सिंह आज किसी पहचान की मोहताज नही है।ये
मुज़फ़्फ़रपुर बिहार की रहने वाली।
पिता प्रोफेसर राजदेव सिंह 
माता श्री मति शैलवाला देवी
पति डॉ आर के सिंह ( हड्डी रोग विशेषज्ञ)है।
अर्चना सिंह की अभिनय यात्रा बहुत ही रोचक रही है।
बचपन से ही अभिनय का शौक रहा है। बचपन में स्कूल में होने वाले ड्रामा में अक्सर बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया करती थीं। उच्च शिक्षा बनस्थली में हुई जहाँ से इन्होंने के बार युथ फेस्टिवल में अपने अभिनय का लोहा व मनवाया।खेल कूद में बास्केटबॉल की प्लेयर रह चुकी हैं।इसके अलावा घुड़सवारी इनका पसंदीदा रहा हमेशा से।ड्रामा में कई सारे पदक एवं सम्मान से सम्मानित भी हो चुकी हैं।
पढ़ाई के दौरान ही शादी होने से एवं बच्चों की परवरिश के कारण कुछ समय के लिए अभिनय में विराम आ गया। 
अर्चना जी की पहली फ़िल्म साई मोरे बाबा आई थी। उसके बाद लगतार कई फिल्मों में काम किया। 
खोइछा, मजनूं मोटर वाला,औरत खिलौना नही, प्यार के रंग हज़ार,बैरी बालम, आदि थे।
प्रियंका चोपड़ा कृत फ़िल्म बम बम बोल रहा है काशी में दमदार अभिनय किया।
खेसारी लाल के साथ मेंहदी लगा के रखना सुपर हिट फिल्म में भी अभिनय की सराहना हुई।शहंशाह में एक मिस्ट्री किरदार निभा कर सबको चौंका दिया।इस फ़िल्म में रवि किशन हीरो थे। आने वाली फिल्म डमरू है।
अभी तक सभी बड़े सितारों के साथ लगभग काम कर चुकी हैं।दिनेश लाल, खेसारी लाल,रवि किशन, यश मिश्रा ,मनोज तिवारी इत्यादि।डायरेक्ट संतोष मिश्रा, आनन्द गहतराज, रजनीश मिश्रा, मनोज कुमार, जितेंद्र सुमन ,असलम शेख,साधना सिंह जी लोगो के साथ काम कर चुकी हैं।
इनको चैलेंजिंग रोल पसंद है।अभिनय में ये खुद को नेगटिव रोल में प्रसिद्धि पाना चाहती हैं।
भिखारी ठाकुर सम्मान के साथ साथ कई सामाजिक कार्यों में भी सम्मानित किया गया।मानवाधिकार एवं अपराध नियंत्रण संगठन में राष्ट्रीय सचिव। राष्ट्रीय युवा हिन्दू वाहिनी में राष्ट्रीय अध्यक्षा के पद पे कार्यरत होकर गरीबो असहाय लोगो की मदद भी कर रही हैं।

Post A Comment: