वे बूचड़खाने खोलते थे हम विकास के द्वार: सीएम योगी आदित्यनाथ
   विनय कुमार मिश्र
गोरखपुर।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पिछली सपा सरकार जिस जमीन पर बूचड़खाना खोलना चाहती थी, हम वहां विकास के द्वार खोलेंगे। पलायन रोकना है तो गांव का विकास जरूरी है। यही हम सबके स्वालंबन का आधार बनेगा। पिछली सरकार में शामिल लोगों ने अपने विकास के लिए सामाजिक ताने-बाने को छिन्न-भिन्न कर दिया। विकास हमारी प्राथमिकता में है और हम इसको समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचा कर रहेंगे। सहजनवां के हरदी गांव में 6.45 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले राजकीय पॉलिटेक्निक का शिलान्यास करते हुए मुख्यमंत्री ने इस काम को 18 माह की तय समयावधि में तैयार करने का निर्देश दिया। यहां मौजूद विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में हमारी सरकार बने हुए 10 माह अभी हुए हैं। इस दौरान हमने जनता के लिए ढेरों योजनाएं शुरू की हैं।पिपराइच चीनी मिल, गोरखपुर र्फिटलाइजर, गोरखपुर एम्स के साथ सहजनवां क्षेत्र के लिए भी हमने दर्जनों योजनाएं शुरू की हैं। ये योजनाएं आमजन के विकास का मार्ग प्रशस्त करेंगी तो साथ ही क्षेत्र की पहचान भी प्रदेश भर में स्थापित होगी। यहां पॉलिटेक्निक के लिए जमीन नहीं मिल रही थी प्रशासन ने भी एक बार हरदी गांव को लोलैंड (निचली सतह की जमीन) बताते हुए जमीन देने से मना कर दिया। हमने कहा कि और रुपया खर्च हो, आप लगाएं लेकिन पॉलिटेक्निक यहीं बनेगा। एक समय था जब इसी जमीन पर सरकार के लोग बूचड़खाना खोल रहे थे। तब हमने इसका विरोध किया था। उनकी प्राथमिकता में बूचड़खाना था, हमारी में शिक्षा का मंदिर है। पॉलिटेक्निक खुलने के बाद यहां के नौजवान, शिक्षित युवा पढ़ाई करके स्वरोजगार के साथ खुद के लिए रोजगार के अवसर भी पैदा करेंगे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश में 21 और 22 फरवरी को इंवेस्टर मीट हो रही है। इसमें देश दुनिया की बड़ी बड़ी कंपनियों के उच्चाधिकारी, प्रतिनिधि,  उद्योगपति, उद्यमी आ रहे हैं। वह यहां पर हजारों, लाखों करोड़ का निवेश करेंगे। ऐसा इसलिए कर रहे हैं कि क्योंकि प्रदेश में उद्योग और उद्यमियों को सरकार का संरक्षण प्राप्त है। पिछली सरकार में सत्ता का संरक्षण लुटेरों और माफियाओं को था इसलिए प्रदेश में निवेश बन्द था। मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में सहजनवा क्षेत्र में हुए विकास कार्यों को सिलसिलेवार ढंग से गिनाया। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों ने चीनी मिल को बेचने का काम किया, जबकि हमारी सरकार इसे फिर से शुरू कर रही है। मुंडेरवा चीनी मिल के शिलान्यास के लिए मैं इसी महीने फिर आऊंगा। पिपराइच और मुंडेरवा चीनी मिल शुरू होते ही 3000 अधिक युवाओं को नौकरी मिलेगी तो 30000 से अधिक किसानों को सीधे तौर पर लाभ होगा। यहां के बाद मुख्यमंत्री ने गीडा परिसर में नव निर्मित गीडा कार्यालय, गीडा की वेबसाइट्स एवं ग्राम नौसढ़ से कालेसर तक पथ प्रकाश व्यवस्था का लोकार्पण कर लोगों को संबोधित किया। इस अवसर पर विधायक सहजनवा शीतल पांडे, ग्रामीण विधायक विपिन सिंह, जिला अध्यक्ष जनार्दन तिवारी, क्षेत्रीय अध्यक्ष उपेंद्र शुक्ला आदि  मौजूद थे। इन योजनाओं का भी किया शिलान्यास-लोकार्पण, गीडा सेक्टर सात में 7.50 करोड़ से नवनिर्मित गीडा कार्यालय भवन का लोकार्पण, उद्यमियों की सुविधा के लिए गीडा की नई वेबसाइट का लोकार्पण जिससे ऑनलाइन सेवाओं की सुविधा मिलेगी।
3.39 करोड़ रुपये से नौसढ़-कालेसर स्ट्रीट लाइट परियोजना का भी लोकार्पण।

Post A Comment: