रूस की दुल्हन, भारत का दूल्हा, अमेरिका में मोहब्बत और बस्ती में शादी
  विनय कुमार मिश्र
गोरखपुर।शहर में हो रही शादियों के दौर में 
हुई एक शादी काफी चर्चा में रही। दुल्हन अमेरिका से आई तो दूल्हा हिन्दुस्तान का। या फिर यूं कहें कि मोहब्बत अमेरिका में हुई और मांग में सिन्दूर हिन्दुस्तान में भरा गया। भारतीय परंपरा के मुताबिक रस्मो रिवाज पूरे हुए। दोनों चाहते तो अमेरिका में ही एक दूजे के हो जाते लेकिन अमेरिकन दुल्हन का कहना था कि जब पति हिन्दुस्तानी हैं तो शादी भी भारतीय परंपरा के मुताबिक ही होगी। मूलत: मिर्जापुर के चुनार थानांतर्गत कोलना गांव के रहने वाले डॉ. गुलाब सिंह भारत सरकार की तरफ से अप्रैल 2004 में यूनओ (संयुक्त राष्ट्र) में गए और 2015 में रिटायर हुए। बच्चों की पढ़ाई-लिखाई, उनकी नौकरी और पत्नी की सेहत का ध्यान रखते हुए वह आज भी अमेरिका की न्यूयार्क सिटी में ही रहते हैं। न्यूयार्क यूनिवर्सिटी में हुई थी दोनों में दोस्ती डॉ. गुलाब सिंह के बेटे श्रीश सिंह बताते हैं कि 2004 में न्यूयार्क यूनिवर्सिटी में कंप्यूटर फाइनेंस की पढ़ाई के दौरान ही मूलत: रुस की रहने वाली मैथमेटिक्स मकैनिकल से इंजीनियरिंग कर रही एरिना से दोस्ती हुई। अमेरिका में ही दोनों बड़े भाई कांस्टेटीन और मार्क का बिजनेस होने के नाते एरिना भी अमेरिका में ही बस चुकी हैं। बहरहाल, पढ़ाई के दौरान हुई दोस्ती समय के साथ गहरी होती गई। और अंतत: दोनों ने एक दूजे का होने का फैसला किया। श्रीश बताते हैं कि भारत में शादी में करने की इच्छा एरिना की ही थी। ‘हिन्दुस्तान’ से बातचीत में एरिना का कहना था कि जब पति हिन्दुस्तानी हैं तो शादी भी यहीं के रस्मो रिवाज के मुताबिक करने की इच्छा थी। ताकि  भविष्य में श्रीश के घर वालों और मेरे मन में कभी इस बात का मलाल न रहे कि हमनें अपनी परंपरा भुला दी। कहती हैं ‘मैं भले ही अमेरिका की हूं लेकिन इस शादी के बाद अब भारतीय बहू हूं। और अब भारत ही मेरा देश और यहां की संस्कृति मेरी पहचान है।’ श्रीश के पिता गुलाब सिंह की ससुराल बस्ती के कप्तानगंज थानांतर्गत खजुहा गांव में है। मामा प्रेम प्रकाश चौधरी बताते हैं कि मिर्जापुर काफी दूर होने के चलते शादी बस्ती में करने का निर्णय लिया गया। वर पक्ष से मिर्जापुर से नात-रिश्तेदार आए थे तो वधू पक्ष से अमेरिका से एरिना के दोनों भाई कांस्टेटीन और मार्क आए थे। श्रीश और एरिना दोनों न्यूयार्क में ही एक प्राइवेट कंपनी सिटी ग्रुप में कार्यरत हैं। पूरा वैवाहिक कार्यक्रम नाना धर्मराज चौधरी की देखरेख में संपन्न हुआ।

Post A Comment: