बीजेपी सांसद पर केस दर्ज होने से सियासी पारा चढ़ा
            विनय कुमार मिश्र
गोरखपुर।बीजेपी सांसद पर मुकदमा दर्ज होने के बारे में एसएसपी सत्यार्थ अनिरूद्ध पंकज ने सख्त तेवर दिखाया है।एसएसपी ने कहा है कि सांसद कमलेश पासवान की शह पर बलदेव प्लाजा के मालिक सतीश नागांलिया ने दर्जनों भूमाफिया के साथ जमीन कब्जे की कोशिश की थी।जिस पर पीड़ित की शिकायत पर बीजेपी सांसद कमलेश पासवान, सतीश नांगलिया समेत 25 लोगों पर कैंट थाने में पुलिस ने केस दर्ज किया है।एसएसपी ने कहा है कि आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए टीमें लगायी गयी है।गिरफ्तारी के लिए उनके ठिकानों पर लगातार छापेमारी की जा रही है।एसएसपी ने बताया कि गिरफ्तारी के डर से कुछ बदमाश लखनऊ और नेपाल भाग गये हैं।इसके साथ ही एसएसपी ने कहा है कि जिले में कानून-व्यवस्था से खिलवाड़ करने वालों को किसी भी हाल में बक्शा नहीं जायेगा।
       बता दें कि कैंट थाना के रूस्तमपुर में मोहम्मद असद उल्लाह की बेशकीमती जमीन पर कब्जा करने के दौरान सांसद के करीबी सतीश नांगलिया समेत दर्जनों दबंगों ने तोड़फोड़ कर बाउंड्री गिराई थी। फिलहाल बीजेपी सांसद कमलेश पासवान पर केस दर्ज कर मनमानी करने वालों पर एसएसपी ने सख्त कार्रवाई का संदेश दिया है।मालुम हो कि गोरखपुर के बांसगांव से बीजेपी सांसद कमलेश पासवान समेत 25 लोगों पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज किया है।बीजेपी सांसद पर भूमाफियाओं को शह देने के आरोप लगा है इतना ही नहीं पीड़ित ने सांसद समेत 25 भूमाफियाओं पर केस दर्ज कराया है।सीसीटीवी में सांसद समर्थकों की करतूत कैंद भी हुई है कैद। दरअसल लग्जरी कार में बैठकर आए दर्जनों समर्थकों ने मौके पर बाउंड्रीवाल गिराई थी। हालांकि किसी भी आरोपी की अभी तक गिरफ्तारी नहीं हुई है।मामला कैंट थाना क्षेत्र के रूस्तमपुर इलाके का है, जहां राजघाट निवासी मोहम्मद असद उल्लाह की बेशकीमती जमीन है। आरोप है कि उसे हड़पने की नीयत से आरा ने फर्जी दस्तावेज के सहारे 29 फरवरी 2008 को तहसीलदार के यहां से एक पक्षीय आदेश करा लिया था।यह आदेश 2 अप्रैल 2012 को निरस्त हो गया था।आदेश निरस्त होने के बावजूद आरा ने जमीन का अनुबंध गुलरिहा निवासी सुरेंद्र प्रसाद के नाम से कर दिया था।दिलचस्प है कि इस मामले में कैंट थाने में 3 मार्च 2017 को केस भी दर्ज हुआ था। बताया जा रहा है कि उसी जमीन पर मोहम्मद असद उल्लाह निर्माण करा रहे थे।इसकी जानकारी जब आरा के बेटे अरशद अली उर्फ शानू और शाद अली उर्फ पप्पू को हुई तो उन्होंने सुरेंद्र प्रसाद को इसकी जानकारी दी। सुरेंद्र अपने व साथी बलदेव प्लाजा के मालिक सतीश नांगलिया, प्रभाकर दुबे, अमित सिंह, सूरज ड्राइवर, अखिलेश दुबे, सोहन और नुमान हुसैन के साथ मौके पर पहुंच गए।आरोप है कि मौके पर दबंगई दिखते हुए सतीश नांगलिया ने अपने सहयोगियों के साथ बाउंड्री गिरा दी। जिसकी शिकायत असद उल्लाह ने पुलिस से की थी।
       भाजपा सांसद कमलेश पासवान इस मामले से पल्ला झाड़ते है तथा एसएसपी के खिलाप संसद में इस मुद्दे को उठाने की बात कर रहे है।जनता की बात अगर की जाय तो पता चलता है कि ये जिस बासगाँव से सांसद है वहाँ जनता के बीच इनकी कोई छवि नही है इस बार ही ये हार का मुँह देख लिए होते वो तो मोदी लहर में जीत गये।जनता का आरोप है कि क्षेंत्र में कोई कामकाज नही होता है सब कुछ राम भरोसे हो रहा है।

Post A Comment: