आंतकवाद व अलगाववाद के खिलाफ डट कर लड़ाई लड़ने वाली शिवसेना समाजवादी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य मैडम पुष्पा गिल ने पंजाब की कैप्टन सरकार से मांग करते हुए कहा कि  सरकार खालिस्तानियों से सख्ती से पेश आए नहीं तो पंजाब को फिर से बुरे दिन देखने पड़ सकते हैं पटियाला शहर पंजाब के विभिन्न इलाकों में लगे खालिस्तानियों के होल्डिंग व खालिस्तान के पक्ष में निकाले जा रहे संत जरनैल सिंह भिंडरावाले के जन्मदिवस के मोर्चे से पंजाब के लोगों में चिंता पैदा हो गई है मैडम पुष्पा गिल ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा गत दिवस पंजाब भर में ट्रकों व गाड़ियों व कारों पर खालिस्तान के झंडे लगाकर फतेहगढ़ मैं जन्म दिवस मनाने संबंधी पंजाब पुलिस की नाक तले काफिले जाते रहे परंतु पंजाब पुलिस देश विरोधी सामग्री लगा कर जाती गाड़ियों के  काफीलो को कहीं भी रोकने का साहस नहीं कर पाई इस तरह की देश विरोधी ताकतें पंजाब को बर्बाद करने पर तुली है उन्होंने कहा कि किसी समय पंजाब भारत का सबसे बड़ा प्रांत हुआ करता था जो पाकिस्तान के पेशावर से लेकर दिल्ली की सीमाओं तक फैला हुआ था समय बदलने के साथ-साथ इसके कई हिस्से हुए इस कारण भारत के हिस्से पंजाब का काफी छोटा हिस्सा ही आया है अगर फिर से ऐसा होता है तो पंजाब का इतिहास में केवल नाम ही रह जाएगा हंसते-खेलते पंजाब ने कई बार देशद्रोही ताकतों से लड़ाई लड़ी और आंतक को करीब से देखा है अगर इन पंजाब विरोधी ताकतों पर नकेल ना करती गई तो माहौल फिर से खराब हो सकता है मैडम पुष्पा गिल ने कहा कि एक और मुख्यमंत्री पंजाब का कैप्टन अमरिंदर सिंह खालिस्तान के खिलाफ सख्त स्टैंड लेते हैं केनेडा के मंत्रियों का डटकर विरोध करते हैं और दूसरी और उनके शासन में खालिस्तान के झंडे लगाकर देशद्रोही फतेहगढ़ साहिब में जनसमूह कर लेते हैं उन्होंने कहा कि खालिस्तान बनाने की घोषणा सिमरनजीत सिंह मान सरेआम करते हैं जिसका शिवसेना समाजवादी कड़े शब्दों में निंदा करती है

Post A Comment: