परबत्ता ब्लॉक से हर्ष राज की रिपोर्ट
 खगड़िया


शाश्वत सुख परमात्मा में निवास करते है।भगीरथ बाबा


क्षनिक सुख की खोज में भटकते है मानव।प्रमोद बाबा
संतों की वाणी सुन भावविभोर हुये श्रद्धालु।
संसार के क्षणिक सुख के लिये मानव भटकते रहते है।पर मनुष्य को सुख की प्राप्ति नहीं होती है।शास्वत सूख केबल परमात्मा की भक्ति में है।मनुष्य सुबह से शाम जन्म से मृत्यु के बीच दौड़ भाग कर थक जाते है परंतु परम सुख की प्राप्ति नहीं होती है।
      क्योंकि संसार के सभी सुखों जङ परमात्मा राम के भक्ति में है।उक्त बातें संतमत सत्संग में बोलते हुये भागलपुर से पधारे हुये स्वामी श्री भगीरथ बाबा ने रविवार को उपस्थित श्रद्धालुओं को संवोधित करते हुये कहा ।बताते चलेंकि खगङिया जिला का 34 वाँ वार्षिक अधिवेशन परबत्ता प्रखंड के देवरी पंचायत स्थित अररिया गाँव में दो दिवसीय संतमत सतसंग आयोजित की गयीं है।सत्संग के दुसरे व अंतिम दिन रविवार को सायं कालीन सत्र में भागलपुर कुप्पा घाट से पधारे संतों ने अपने प्रवचनों से उपस्थित श्रधालुओं को मंत्रमुग्ध किया।सत्संग में पहुंचे हजारों श्रद्धालुओं को संवोधित करते हुये स्वामी श्री प्रमोद बाबा ने कहा कि संसार के माया से छुटकारा पाने के लिये परमात्मा राम की भक्ति जरूरी है।

मनुष्य जन्म लेकर संसारिक सुख भोग में लिप्त हो जाते है।सुख की चाहत में हिंसा वैविचार कर धन संपत्ति अर्जन करते है।पद प्रतिष्ठा पाकर भी शांतिपूर्ण जीवन नहीं जी पाते है।यदि परम सुख चाहिए तो रामचरण की बंदना करना होगा तभी उसे सच्चे सुखों की अनुभूति होगी।वहीं लोगों को संवोधित करते हुये स्वामी 
   
   श्री सत्यप्रकाश बाबा ने कहा कि परमात्मा राम से विमुख होकर कोइ भी सुखी नहीं हो सकता ।भगवान राम से बैर कर रावण का विनाश हुआ था।रावण ने अपने शक्ति से संसार के सभी भौतिक चीजों को वश कर लिया था।लेकिन भगवान राम से वैर कर नाश  हो गये।वहीं स्वाम

Post A Comment: