बिहार नव निर्माण के पंचशील सिद्धांत :समाजसेवी चन्द्र भूषण  यादव

समस्तीपुर जिले के सिंघिया प्रखंड के जहांगीरपुर ग्राम के जाने माने समाजसेवी नेता 
चन्द्र भूषण  यादव ने बिहार नव निर्माण के  लिये  पंचशील सिद्धांत पर प्रकास डालते हुए आम लोगों को जागरूक किये की  महात्मा गाँधी ने बिहार में सत्य अहिंसा का दीप जलाये थे उन दिनों बिहार में नैतिकता ,सद्भावना ,सदविचार और मानवता थी ,लेकिन अभी इसका आभाव है ,अब बिहार में नैतिकता क्रांति लाने की जरूरत है ,इसके लिए आम जनता ,नेता और अधिकारी को नैतिकवान होना परेगा |बिहार की सुरत बदलने के लिए विशाल श्रमशक्ति ,मेधा ,प्रतिभा ,हुनर ,योग्यता ,कला संस्कृति तथा ज्ञान का सम्पूर्ण उपयोग संभव है |
बिहार वाशियों  के दिल में दृढ इक्षा शक्ति ,आत्म विश्वास ,सच्ची लगन ,कर्तव्य निष्ठा एवं ईमानदारी  का  होना जरुरी है |व्यवस्था  में परिवर्तन का सूत्रधार सुशासन होता है ,सुशासन के  बगैर समाज को नई दिशा देने की कल्पना नही की जा सकती है ,सुशासन  तीन स्तम्भ

है :-सरकार ,बाजार और नगर समाज |जब इन तीनो में तालमेल नही हो सकता तब तक व्यवस्था में परिवर्तन असंभव है |

Post A Comment: