पटना जंक्शन पर सैनेटरी नैपकिन वेंडिंग मशीन का उद्घाटन
पटना से बिहार व्यूरो ,अनूप नाराय सिंह 

 
पटना जंक्शन पर आज से महिलाओं को सैनेटरी नैपकिन की भी सुविधा मिलने लगी है. नव अस्तित्व फाउंडेशन की तरफ से लगाये गये इस सैनेटरी नैपकिन वेंडिंग मशीन का उद्घाटन पटना की मेयर सीता साहू ने किया. साथ में रंजन प्रकाश ठाकुर, डीआरएम, दानापुर भी मौजूद रहे. साथ ही कई रेलवे के अधिकारी भी मौजूद रहे. वहां मौजूद लोगों और यात्रियों ने इस पहल का स्वागत किया है. खासकर महिलाएं ज्यादा खुश और उत्साहित दिखीं. उन्होंने कहा कि इससे महिलाओं की परेशानी काफी दूर होगी. इस वेंडिंग मशीन से 5 रुपये में एक नैपकिन ले सकते हैं.इस अवसर पर मेयर सीता साहू ने कहा कि इससे महिलाओं को काफी आसानी होगी. महिलाएं बिना झिझक के इसका इस्तेमाल करें. यह बहुत ही सराहनीय पहल है. इससे और लोगों में भी जागरूकता है. यह महिला मुसाफिरों के लिए बहुत कारगर होगा. डॉ. अर्चना ने कहा कि मैं भी एक महिला हूं. और मैंने इसकी जरुरत महसूस की, कई बार पीरियड की वजह से सफ़र कैंसिल कर देते हैं. लेकिन अब महिलाएं बिना टेंशन सफ़र करें. हमारी कोशिश ये है कि पटना के साथ ही बिहार के सभी स्टेशनों पर इसकी शुरुआत हो.नव अस्तित्व फाउंडेशन की फाउंडर अमृता सिंह ने बताया कि हम यह मुहिम 5 साल से चला रहे हैं. हमने सेनेटरी नैपकिन बैंक की भी स्थापना की है. भविष्य में सेनेटरी नैपकिन बैंक की स्थापना बिहार के 38 जिलों में की जायेगी, लेकिन फिलहाल सैनिटरी नैपकिन बैंक की शुरूआत बिहार के छः जिलों में हो रही है जिसमें पटना, पूर्णिया, हाजीपुर, बक्सर, जमुई, व मधेपुरा शामिल है. अब हमारी कोशिश ये है कि बिहार के सभी स्टेशनों पर सैनेटरी नैपकिन वेंडिन मशीन लगाया जाए.बता दें कि नव अस्तित्व फाउंडेशन की फाउंडर अमृता सिंह और उनकी साथी डॉ. अर्चना और पल्लवी ‘स्वच्छ बेटियां स्वच्छ समाज’ नाम से एक मुहिम चला रही हैं. जिसके अंतर्गत वह पीरियड, सैनिटरी पैड, हेल्थ एंड हाइजिन को लेकर महिलाओं में जागरूकता फैला रही हैं. इस कड़ी में उन्होंने जेडी वीमेन कॉलेज में एक वेंडिंग मशीन और डिस्पोजल लगवाया है. इसके अलावा वह गांव गांव जाकर महिलाओं को सेनेटरी नैपकिन पैड भी बांटती

Post A Comment: