परबत्ता ब्लॉक से हर्ष राज की रिपोर्ट
खगड़िया

फोटो।
दो दिवसीय जिला वार्षिक संतमत सत्संग का शुभारंभ।


पूर्व जिप अध्यक्ष ने फीता काटकर किया उदघाटन

पर्वता से हर्ष राज

वार्षिक संतमत सत्संग का 34 वाँ अधिवेशन शनिवार को परबत्ता प्रखंड के अररिया गाँव में हुआ।वार्षिक अधिवेशन का उदघाटन पूर्व जिला परिषद अध्यक्ष कृष्णा कुमारी यादव ने फीता काटकर किया।

मौके पर विनय यादव सदानंद यादव रामशरण यादव सियाशरण यादव रामरुप यादव जयकृष्ण यादव विभीषण यादव डा संजय राय उपस्थित थे।वहीं उदघाटन के बाद लोगों को संवोधित करते हुये कृष्णा कुमारी यादव ने कहि कि  संतमत सत्संग मानव जीवन के लिये लाभदायक साबित होगी।इस तरह के आयोजन से क्षेत्र में शांति आपसी भाईचारा कायम होगा।हमें अधिवेशन में पधारे संतों की वाणी से लाभ उठाकर सफल जीवन की कल्पना कर सकते है।

भारतीय संस्कृति सभ्यता में संतों का बङी भूमिका रही है।संपूर्ण भारत में संतों के बताये मार्ग का अनुशरण हम करते रहे है।कार्यक्रम को संवोधित विनय यादव जयकृष्ण यादव संध्या कुमारी आदि भी किये।वहीं संतमत सत्संग में प्रवचन देते हुये स्वामी श्री भगीरथ बाबा ने कहा कि यदि कत्तर्व्य और अकत्तव्य का ज्ञान हासिल करना है।तो परमात्मा का साक्षात्कार करना चाहते है तो अपने जीवन में परमकल्याण चाहते तो सत्संग और महापुरुषों मानस जप मानस ध्यान का दृष्टियोग करना आवश्यक है।

वहीं सत्संग में पधारे स्वामी श्री प्रमोद बाबा ने कहा कि सतसंग एक अस्पताल की तरह है।जिस प्रकार अस्वस्थ शरीर को स्वस्थ करने के लिये अस्पताल की जरूरत होती है।ठीक उसी प्रकार कुसंगति कुमार्ग कुसंगति और पाप से छुटकारा पाने के लिये संतों की वाणी आत्मसात करने के जरूरत है।मनुष्यों के जीवन में सत्संग

Post A Comment: