डीजे की धुन पर नाच रहे बाराती ने दूल्हे के भांजे को मारी गोली, मातम में बदली खुशी

मेवाल नशे में धुत्त था। वह कट्टा हाथ में लेकर झूम रहा था।
बिहार व्यूरो ,अनूप नारायण सिंह :
भागलपुर.बिहार के भागलपुर जिले के हबीबपुर के भथुआबारी से बदरे आलमपुर जा रही बारात में 24 साल के गुलरेज आलम की गोली
मारकर हत्या कर दी गई। गुलरेज पीरपैंती के सुंदरपुर का रहने वाला था। बुधवार रात करीब 8:45 बजे बारात शाहजंगी मैदान के करीब पहुंची थी। बारात में शामिल लोग डीजे की धुन पर झूम रहे थे तभी बारात में शामिल एक युवक ने गुलरेज पर गोली चला दी, जो सीधे उसके माथे में लग गई।

मुंबई से आया था शादी में शामिल होने

- खून से लथपथ गुलरेज को मायागंज अस्पताल ले जाया गया, लेकिन रास्ते में ही उनकी मौत हो गई। मृतक दूल्हे का भांजा था और दो दिन पहले ही बारात में शामिल होने मुंबई से गांव आया था।

- प्रत्यक्षदर्शी मो. लड्डन ने बताया कि गोली भथुआबारी के मेवाल नामक युवक ने चलाई थी। नशे में धुत मेवाल ने नाचने के क्रम में पिस्टल निकाला और फायरिंग कर दी।

- गुलरेज को गोली लगने के बाद भगदड़ मच गई और बारात में शामिल लोग इधर-उधर भागने लगे।

शहनाई के गीत मातम में बदले
- हबीबपुर के बदरे आलमपुर गांव में मो. जमील की बेटी खुशी परवीन के निकाह के लिए बज रही शहनाई की धुन अचानक खामोश हो गई।

- पटाखे व आतिशबाजियों के बीच डीजे पर थिरकते बारातियों के कदम थम गए। बारात के दरवाजे पर पहुंचने के करीब पांच सौ मीटर दूर ही गोलीबारी में दूल्हे के भांजे की हुई मौत ने पूरे माहौल को गम में बदल दिया। महिलाएं जहां मंगलगीत गा रही थी। वे भी चुप हो गईं।

- बारात लौटने के डर से दूल्हा अरशद को तुरंत महफिल में लाया और महज दो मिनट में काजी ने अरशद व खुशी का निकाह करवा दिया।

- दूल्हा अरशद खुशी के कबूलनामे के बाद चंद मिनट में ही मेहर पर दस्तखत कर मायागंज हॉस्पिटल पहुंचा और भांजे गुलरेज का शव देख रो पड़ा।

मैकेनिकल इंजीनियर था गुलरेज

- गुलरेज ने दिल्ली से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में बी. टेक किया था। पिछले साल ही उसका बी.टेक कोर्स पूरा हुआ और वह मुंबई में किसी इंफ्रास्ट्रक्चर कंपनी में बतौर इंजीनियर बहाल हुआ था।

Post A Comment: