सीतामढ़ी से सत्य प्रकाश की रिपोर्ट

...पटना के पारस हॉस्पीटल में चल रहा था ईलाज
सीतामढी | निज संवाददाता
अपराधियों की गोलीवाडी का शिकार हुए शिझक मुकेश कुमार ठाकुर का पटना के पारस हॉस्पीटल में ईलाज के दौरान गुरूवार को मौत हो गई | वे विगत सोलह दिन से जीवन रझक पद्धति पर थे | अपराधियों ने उसे तीन गोली मारी थी, गोलीवाडी से जख्मी शिझक को ईलाज के लिए मुजफ्फरपुर के निजी हॉस्पीटल में भर्ती कराया गया था, जहां से बेहतर ईलाज के लिए पारस हॉस्पीटल पटना रेफर किया गया था, जहां शिझक को जीवन रझक पद्धति पर रखकर ईलाज किया जा रहा था | गोली लगने से संक्रमण शिझक के पूरे शरीर में फैल गया था, जिससे वह कौमा में चला गया | शुरूआत के कुछ दिनों जख्मी शिझक होश में रहे, जहां उसने पुलिस को फर्द बयान दर्ज कराया था, फर्द बयान में जख्मी शिझक ने स्कूल में पदस्थापित एक महिला शिझिका और उसके पति समेत कुछ लोगों के खिलाफ हत्या की नीयत से गोली मारने का आरोप लगाया था | इस मामले में पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए शिझिका के पति को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया है | मुकेश कुमार ठाकुर बोखडा प्रखंड के उखड़ा गांव के रहनेवाले थे तथा पंचायत के ही मध्य विद्यालय पतनुका में पदस्थापित थे | इधर शिझक पर गोलीवाडी की घटना के बाद शिझक के चारित्रिक हनन के लिए भी कई हथकंडे विरोधी तत्व द्वारा अपनाया गया, जिसकी जांच पुलिस कर रही है | शिझक के मौत के बाद परिजनों मे कोहराम मच गया है | वही शिझक समुदाय में भी घटना के बाद शोक व्याप्त है | लोग पुलिस प्रशासन से जल्द दोषी के खिलाफ गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं |

घटना से चंद माह पूर्व शिझिका का प्रतिनियोजन
सीतामढी | निज संवाददाता |
मुकेश कुमार ठाकुर ने जिस महिला शिझिका के खिलाफ फर्द बयान दर्ज कराया था | उसका प्रतिनियोजन अब सवालों के घेरे में है | महिला शिझिका का प्रतिनियोजन रून्नीसैदपुर प्रखंड में किया गया है | जबकि शिझा विभाग ने निर्देश जारी कर पहले ही सभी तरह के प्रतिनियोजन को रद्द कर दिया है | ऐसे में अंतर प्रखंड में प्रखंड शिझिका का प्रतिनियोजन होना भी कई तरह के सवालो को जन्म दे रहा है | घटना से इसके तार को जोड़कर देखा जा रहा है |

Post A Comment: