आम तौर पर बड़े बजट की हिंदी फिल्मो के निर्माता चलताऊ विषय वस्तु को ही रुपहले परदे पर उतरना पसंद करते है। लीक से अलग हट कर किसी ऐतिहासिक सामाजिक विषय को लेकर कोई साहसिक प्रयास करे तो खुद ब खुद चर्चा के केंद्र में आ ही जाता है। बिहार के प्रसिद्ध रेशमा चौहरमल की अमर प्रेम कहानी पर बेगुसराय के युवा समाजसेवी दिनकर भारद्वाज की प्रोडक्शन कंपनी दिनकर फिल्म प्रोडक्शन ने हिंदी फिल्म चौहर का निर्माण किया है .रूपक शरर की कथा पटकथा को निर्देशक रघुबीर सिंह ने बखूबी रुपहले परदे पर उतारा है।बिहार के कलाकारों से सजी इस फिल्म के नायक है अमित कश्यप जो बिग बी के साथ पहले नजर आ चुके है। अमित कश्यप, ऋचा दीक्षित, विवेकानंद झा, अमर ज्योति, रतन लाल, विजय सिंह पाल, दिनकर भारद्वाज एवं अन्य के दमदार अभिनय से सजी इस फिल्म के संगीतकार है डॉ अश्वनी कुमार जबकि गीतकार है प्रफुल मिश्र, सुधीर, सबरजीत और राजेश जौहरी सुरेश वाडेकर, साधना सरगम, ऐश्वर्य निगम ने अपनी मधुर आवाज दी है वहीँ जवाहर भारद्वाज फिल्म के प्रस्तुतकर्ता है।

फिल्म की शूटिंग बिहार के बेगुसराय और आस पास के इलाके में हुई है। कल हमारा है के बाद दूसरी हिंदी फिल्म होने का गौरव चौहर को मिला है जो बिहार के कलाकारों से सजी है और बिहार में ही बनी है। बता दें कि चौहर भगवान के रूप में बिहार में दलित शोषित वंचित जमात में पूजे जाते है बिहार में उनके कई मंदिर भी है। वीर लोरिक, बठवा दुसाध, रामनाथ चमार, मित्रजयी धोबी की कड़ी में चौहरमल लोकनायक है। उन्होंने दलित होते हुए एक स्वर्ण यूवती से प्रेम किया और अपने समय में सामाजिक बिद्रुप्ता पर प्रहार भी किया। इस फिल्म को सोशल इंजिनियरिंग के जानकर मील का पत्थर मान रहे है।

Post A Comment: