सूरज कुमार (उन्नाव ब्यूरो )की रिपोर्ट
उन्नाव  26 मार्च  2018  सूचना विभाग
जापानीज इंसेफ्लाइटिस जैसी राष्ट्रीय वेक्टर जनित रोग प्रभावी नियंत्रण कार्यवाही के संबंध में अपर जिलाधिकारी बीएन यादव ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि संबंधित विभाग जापानीस एक्यूट इंसेफलाइटिस सिंड्रोम पर प्रभावी नियंत्रण तथा रोग का त्वरित एवं सही उपचार सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से एक है ।इस रोग की रोकथाम हेतु विभिन्न विभागों के बीच आपसी समन्वय स्थापित करते हुए वर्ष पर्यंत एक साथ कार्रवाई करना आवश्यक है, जिसके लिए जनपद तथा ब्लॉक स्तर पर अंतर विभागीय समन्वय समितियों का गठन नियमित अंतराल पर संबंधित विभागों द्वारा किए गए कार्य निष्पादन तथा जनपद में रोग की स्थिति की समीक्षा हेतु जनपद स्तर पर जिलाधिकारी की अध्यक्षता में तथा ब्लॉक स्तर पर उप जिलाधिकारी की अध्यक्षता में समिति का गठन किया गया है।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ एस पी चौधरी ने बताया कि कार्यक्रम के तहत आगामी 2 से 16 अप्रैल तक टीकाकरण अभियान चलाया जाएगा जिसमें 1 से 15 वर्ष आयु के छूटे हुए बच्चों का चयन किया गया है। जनपद में लगभग इस तरह के 95000 बच्चे हैं। टीकाकरण का कार्य एनएम करेंगी तथा सहयोग में आशा तथा आंगनवाडी कार्यकत्री रहेंगी। पखवाड़ा के दौरान सहयोगी विभाग अपने से संबंधित कार्य करेंगे ।पखवाड़ा की समीक्षा जनपद स्तर पर जिला अधिकारी तथा शासन स्तर पर माननीय मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश एवं मुख्य सचिव उत्तर प्रदेश शासन करेंगे। पखवाड़ा का शुभारंभ 2 अप्रैल को ब्लॉक/ जनपद स्तर पर जनप्रतिनिधियों द्वारा किया जाएगा। समाज में जन जागरूकता लाने हेतु बेसिक शिक्षा अधिकारी को स्कूली बच्चों द्वारा प्रभात फेरी व प्रार्थना के समय जानकारी उपलब्ध कराए जाने के निर्देश दिए गए हैं ।
इस अवसर पर चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, जल निगम, पंचायती राज विभाग ,ग्राम विकास, नगर विकास, पशुपालन, बाल विकास, शिक्षा, विकलांग ,समाज कल्याण, कृषि, सिंचाई लघु उद्योग आदि विभागों के सहयोग से इस टीकाकरण पखवाड़ा में सहयोग कर सफल बनाए जाने के निर्देश दिए गए हैं।
बैठक में मुख्य रुप से मुख्य चिकित्सा अधिकारी SP चौधरी, जिला स्वास्थ्य सूचना अधिकारी एलबी यादव सहित संबंधित विभागों के अधिकारी कर्मचारी आदि उपस्थित थे।

Post A Comment: