समस्तीपुर, कल्याणपुर

ब्रजेश कुमार की रिपोर्ट :
 कुपोषण मुक्त बिहार के लिए आहार एवं व्यवहार में परिवर्तन लाना जरुरी है - नौशाद वारसी

कल्याणपुर प्रखंड के मधुरापुर टारा पंचायत में हरिहरपुर गाँव में उपासना जीविका महिला ग्राम संगठन के द्वारा पूरक आहार पर जागरुकता और कुपोषण से बचाव को लेकर जागरुकता रैली निकाली गई । रैली समाप्ति के  बाद एक सभा का आयोजन किया गया । सभा को संबोधित करते हुए नौशाद वारसी ने कहा कि
विशेषकर 2 वर्ष से कम उम्र के बच्चों में कुपोषण का खतरा अधिक होता है जिस कारण नाटेपन की समस्या गंभीर है । बच्चों में समय से पूरक आहार की शुरुआत नही करने एवं उसकी उम्र के अनुसार आहार नही देने से नाटापन हो सकता है ।  अभी बिहार राज्य में लगभग 48.3% बच्चे कुपोषण के कारण नाटे है ।

बच्चों में नाटेपन के कारण मानसिक विकास में कमी होती है जिसके कारण पढ़ने-लिखने की क्षमता तथा आगे पैसे कमाने की क्षमता में कमी आती है ।  इस व्यवहार में सकरात्मक परिवर्तन लाने के लिए समुदाय और परिवार को सामुहिक रुप से प्रयास करना होगा । दो दिवसीय जागरुकता अभियान के तहत चार प्रकार की गतिविधियों के माध्यम से 5 से 12 माह के बच्चों वाली माताओं को पूरक आहार के बारे में जानकारी दी जा रही है ।

गृह भ्रमण कर सात खाद्द समूह में से कम से कम चार खाद्द समूह खाने के लिए जागरुक किया गया ।  6 माह के बाद शिशु को शरीर के विकास एवं मानसिक विकास के लिए अलग – अलग तरह के आहार की जरुरत होती है। बच्चे का पूर्ण विकास के लिए भोजन में विविधता जरुरी है ।  खाना बनाने से पहले और खिलाने से पहले माँ अपनी और बच्चे का हाथ साबुन से धोए । बच्चे की बढ़ती उम्र के साथ खाने की सही मात्रा और सही समय का ध्यान देना जरुरी है के बारे में जानकारी दी गई ।  इसमें रैली , गृह भ्रमण , वीडियों शो एवं पूरक आहार पर प्रदर्शनी करवाया गया ।

इस रैली में जीविका सीएम कविता कुमारी,गुड़िया देवी, बुक किपर अक्षय कुमार, आशा रानी देवी, स्वास्थ्य उपसमिति की सदस्य रेणु देवी,टूलो देवी, नीरो देवी, सदस्य आशा देवी,ज्योति देवी, अंजना देवी,अनिता देवी, रंजु देवी, गुंजा देवी, सोनी देवी, रीना देवी,शोभा देवी, मंजु देवी,
एवं अन्य सदस्य इस मौके पर उपस्थित थी ।

Post A Comment: