बिहार उत्सव 2018 का धूम राज्य से लेकर राज्य के बाहर तक मची है । कल पटना के गाँधीमैदान में आधिकारिक तौर पर समापन हो गया किन्तु आज  देश की राजधानी दिल्ली में बिहार सरकार के उद्योग विभाग के द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन आईएनए हाट धुम मचा दिया । हजारो कि भीड़ ने तालियों से बिहारी कलाकारों के द्वारा दहेज प्रथा पर की गई प्रस्तुति का हौसला अफ़जाई करता रहा ।
आज का कार्यक्रम महिला कल्याण समिति पटना की संस्था अपने 21 सदस्यों के साथ परफॉर्मेंस किया जिसका मंच संचालन संस्था की सचिव और चर्चित उदघोषिका अर्चना राय भट्ट ने किया ।
पहला कार्यक्रम सरण की छोटी सी कलाकार अनुष्का ने दिया जिसमे एक लड़की के सपनो को टूटने की व्यथा साफ साफ दिख रही थी । 
इसके बाद मयूरी निर्त्य के रूप में निशा , अनुष्का और अंजू की प्रतुती ने लोगो को तालियां बजाने को मजबूर करता रहा । 
आज के कार्यक्रम में शुरुआत राष्ट्रगान से हुआ इसके बाद विदेशिया चैती मिक्स गायन नृत्य कलाकारों ने प्रस्तुत किया , एकांकी दहेजप्रथा एक अभिशाप नाटिका ने दर्शको को समाज का अभिशाप बन चुका दहेजप्रथा सोचने पर मजबूर करता रहा , मयूरी नृत्य जट जटिन नृत्य ने दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया आखरी प्रस्तुति कजरी पर भाव नृत्य तो पूरे सभागार में विहंगम दृश्य प्रस्तुत कर दिया । 
बिहार के छोटे छोटे इलाके से आये इन कलाकारों के द्वारा देश की राजधानी में प्रस्तुति अपने आप मे बहुत बड़ी बात थी । 
आज जिन कलाकारों ने दिल्ली के आईएनए हाट में बिहार सरकार के उधोग विभाग द्वारा आयोजित  कार्यक्रमो में हिस्सा लिए उनमे महिला कल्याण समिति पटना की सचिव अर्चना राय भट्ट उदघोषिका के रूप में समा बांधे रखा वही आकांक्षा ,  वही पूरे कार्यक्रम का स्क्रिप्ट मनोज उज्जैन ,आकांक्षा एवं ग्रुप ने तैयार किया था । 
अनुष्का , सिमरन , निशा , अंजू , एंजल , आदित्य कुमार , विशाल , रंजीत ठाकुर , रामबाबू इत्यादि कलाकारो द्वारा आज प्रस्तुति दी गई  ।

Post A Comment: