हसनपुर में लोहिया जयंती समारोह ,राजनीति बुराइयों से लड़ने का औजार है: गजेन्द्र प्रसाद हिमांशु
ब्रजेश के साथ नेहाल अहमद की रिपोर्ट :
समस्तीपुर जिले के हसनपुर प्रखंड स्थित हसनपुर कोलेज हसनपुर रोड में बिहार सरकार में पूर्व मंत्री गजेन्द्र प्रसाद हिमांशु की अध्यक्षता में डॉ राम मनोहर लोहिया की जयंती मनाई गयी जिसमे समाजवादी विचार मंच हसनपुर के सैकरों कार्यकर्ताओं ने भाग लिया ,
इस समारोह में उपस्थित बिहार सरकार के पूर्व मंत्री श्री हिमांशु ने डॉ राम मनोहर लोहिया के जीवनी पर प्रकाश डालते हुए उपस्थित लोगो को जागरूक किये की आजादी के बाद देश को सही दिशा में आगे बढ़ने के लिए अनेक विचार और सिध्यांत बताये थे मगर आज उनके उन विचारों को अमल में नही आने के कारन देश अनेक आर्थिक व् राजनैतिक संकट से घिर गया है ,लोहिया ने गरीबी रोकने और देश को आर्थिक व्यवस्थ ठीक रखने के लिए कहे थे ‘’दाम बांधो खर्च पर सीमा लगाओ ,सत्ता के विकेंद्री करन के लिए चौखम्भा राज का रास्ता बताया |गाँवो की खुश हाली के लिए नारा दिया था जिन जोतों से लाभ नहीं उस पर लगे लगाम नहीं ||शिक्षा पर बोले थे की राष्ट्रपति का बेटा हो या चपरासी की संतान सबको शिक्षा एक सामान |इतिहास कभी चलता है रजामंदी से ,कभी चलता है संघर्ष से और अक्सर दोनों के मिश्रण से |एक बार जब लोहिया जेल में थे तो महात्मा गाँधी ने कहा था की भारत की आत्मा जेल में कैद है और मैं कैसे बाहर हूँ ,अंग्रेजी राज में सत्या ग्रह करते रहे और बाईस बार अंग्रेजों के जेल गये आजाद भारत में भी वः चौबीस बार जेल गये थे ,लोहिया ने रामायण मेला भी लगाया करते थे,इन्होंने अन्य्याय के खिलाफ सात क्रांतियों पर जोर दिए थे ,,नर  नारी की समानता ,काले गोरे के भेद पर रची राजकीय आर्थिक और मानसिक और समानता के खिलाफ ,जातिप्रथा के खिलाफ और पिछरों को विशेष अवसर के लिए ,गुलामी के खिलाफ और स्वतंत्रता और विश्व में लोक लाज के लिए ,निजिपुंजी के विषमताओं के खिलाफ और आर्थिक समानता के लिए और योजना द्वारा पैदावार बढाने के लिये,निजी जीवन में अन्याय हस्तछेप के खिलाफ और लोकतान्त्रिक पद्दति के लिए तथा अस्त्र सस्त्र के खिलाफ और सत्याग्रह के लिए इन सब को एकसाथ चलाने पर जोर दिया था |समारोह में उपस्थित लोगों में राय चन्द्र यादव ,अवधेश प्रसाद सिंह ,महेंद्र मालाकार ,सुरेश चौधरी ,गुलाम नवी आजाद ,अजय शर्मा ,दुर्गा प्रसाद सिंह ,गंगा यादव ,नवल सिंह ,नंदलाल यादव ,हीरा सिंह ,सीताराम सिंह ,रामबालक पासवान समेत सैकरों लोग उपस्थित थे |

Post A Comment: