P न्यूज़ बाजपट्टी से सत्य प्रकाश की रिपोर्ट

...घटना के एक पखवाडे बाद भी हत्यारे पुलिस गिरफ्त से बाहर
...पुलिस की सुस्ती पर उठ रहे सवाल
...आखिर किसका है पुलिस पर दबाव!
सीतामढी | निज संवाददाता
शिझक मुकेश कुमार ठाकुर के मर्डर की गुत्थी उलझती जा रही है | घटना के एक पखवाड़ा से अधिक गुजरने के बाद भी हत्यारे पुलिस गिरफ्त से बाहर हैं, ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि पुलिस पर किसका दबाव है जो कार्रवाई में सुस्ती बरती जा रही है | कई ऐसे सवाल है, जिसका जबाव तलाशना पुलिस के लिए चुनौती बना हुआ है | घटना के कुछ दिन बाद ही शिझक के चारित्रिक हनन के प्रयास करने के नीयत से एक लड़की पुलिस को बयान दर्ज कराती है, आखिर उस लड़की का शिझक से कैसा रिश्ता है, या किसी के दबाव में आकर लड़की ने पुलिस को बयान दिया है, इसका जबाव भी पुलिस को तलाशना है | वही मृतक शिझक के पिता का कहना है कि कुछ स्थानीय  लोग घटना के चंद मीनट पहले कई बार बुलाने आये थे, ऐसे में वैसे लोगों से पूछताछ भी जरूरी है, कही घटना के तार उससे तो नहीं जुरे हैं, वही शिझक के मोबाइल पर कॉल करके बुलाने की भी चर्चा है, ऐसे में संबंधित मोबाइल के टॉवर लोकेशन भी घटना की गुत्थी सुलझाने में मददगार साबित हो सकती है | वही डीएसपी पुपरी पंकज कुमार बताते है कि घटना की मुख्य वजह स्कूल से जुड़ा लगता है | साथ ही घटना के चंद दिनों बाद कुछ देर के लिए होश में आने पर स्कूल के ही एक शिझिका के पति समेत अन्य के खिलाफ हत्या की नीयत से गोली मारने का आरोप लगाया था | इसके आधार पर शिझिका के पति को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेजा जा चुका है, जबकि शिझिका अंतर प्रखंड के स्कूल में प्रतिनियोजित है | ऐसे में प्रतिनियोजन को लेकर भी कई सवाल उठ रहे हैं | विभागीय निर्देशानुसार सभी तरह का प्रतिनियोजन रद्द है, नियोजित शिझको का होम प्रखंड के विद्दालय में भी प्रतिनियोजन मुश्किल है, ऐसे में घटना के चंद माह पहले से दूसरे प्रखंड में प्रतिनियोजन होना भी शक को गहरा रहा है | वही शिझक पर अत्याधुनिक हथियार से फायरिंग की गई, ऐसे में पेशेवर सुपारी सूटर का इस्तेमाल किये जाने की बात भी कही जा रही है | पुलिस भी मान रही है कि इस मामले में अबतक प्रगति कुछ खाश नहीं हो सकी है, सिवाय फर्द बयान के आधार पर एक शिझिका के शिझक पति की गिरफ्तारी की | वही लोग दबे जुबान से यह भी कह रहे हैं कि घटना को रसूखदार तबके के इशारे पर अंजाम दिया गया लगता है, ऐसे में परिजन भी आशा भरी नजरों से पुलिस कार्रवाई को देख रहें हैं | शिझक मुकेश कुमार ठाकुर का मर्डर का पेंच स्कूल विवाद, सामाजिक विवाद और प्रेम संबंध के त्रिकोण में फंसा हुआ है!  जिसकी गुत्थी को सुलझाना पुलिस के लिए चुनौती बना हुआ है | इस गुत्थी को सुलझाना आसान नहीं लगता है, वही पुलिस की सुस्ती पर भी सवालिया निशान लगने लगा है| गांव के लोग कहते हैं कि आखिर मुकेश किसे खटकते थे, जिसके चलते दिनदहाडे उसपर फायरिंग की गई | जिले के आपराधिक इतिहास की पहली घटना है जब अपराधियों द्वारा गोलीवाडी कर हत्या जैसी घटना को अंजाम तक पहुंचाया गया | इस पूरे मामले पर डीएसपी पुपरी पंकज कुमार कहते हैं कि दोषी को हर हाल में गिरफ्तार किया जायेगा | पुलिस पूरी गंभीरता से मामले की जांच कर रही है | जल्द ही मामले को सुलझा लिया जाएगा |

Post A Comment: