सूरज कुमार (उन्नाव ब्यूरो) की रिपोर्ट
शौचालय निर्माण में बाधा बने प्रधानों के अधिकार होंगे सीज

उन्नाव:  स्वच्छ भारत मिशन के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में व्यक्तिगत शौचालय निर्माण ग्राम प्रधान और पंचायत सचिवों के लिए मुसीबत बना है। एक के बाद एक दोनों का क्रम लगातार चल रहा है।डीएम के निर्देश पर कराए गए सत्यापन व समीक्षा में दो प्रधानों की गर्दन फंस गई।सिकन्दर पुर सरोसी ब्लॉक के इशुनिया और प्यारेपुर ग्राम प्रधानों के वित्तीय अधिकार पर संकट छा गया है।बीडीओ ने दोनों के वित्तीय अधिकारों पर रोक लगाने के लिए डीपीआरओ को पत्र भेज दिया है। खंड विकास अधिकारी सिकन्दर पुर सरोसी अनिल कुमार त्रिपाठी ने ब्लाक क्षेत्र के गांव प्यारेपुर और इशुनिया ग्राम प्रधान पर स्वच्छ भारत मिशन के तहत होने वाले शौचालयों के निर्माण कार्य मे लापरवाह बताया गया था।जिसके बाद दोनों को नोटिस भेजा गया लेकिन कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला।जिसके बाद बीडीओ पीड़ी डीआरए ने दोनों के खिलाफ कार्यवाही के लिए डीपीआरओ को पत्र भेज दिया है। जिसमे उन्होंने उपरोक्त दोनों प्रधानों के ग्राम निधि खाते से वित्तीय अधिकार समाप्त करने की संस्तुति करते हुए पत्र भेजा है।

Post A Comment: