जनसामान्य की शिकायतों का गुणवत्तापूर्ण निस्तारण वर्तमान सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता-विशेष सचिव 
मुख्यमंत्री हेल्पलाइन टोल फ्री नम्बर 1076 के सम्बन्ध में कलेक्ट्रेट में प्रशिक्षण। 
सुलतानपुर से अरुण साहू :
 विशेष सचिव आई.टी. एवं इलेक्ट्रानिक्स उत्तर प्रदेश शासन अभय सिंह ने कहा कि जनसामान्य की शिकायतों का गुणवत्तापूर्ण व समयबद्ध निस्तारण वर्तमान सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। विशेष सचिव आज कलेक्ट्रेट सुलतानपुर में मुख्यमंत्री हेल्पलाइन 1076 के सम्बन्ध में एल.-1., एल-2 व एल -3 अधिकारियों के प्रशिक्षण को सम्बोधित कर रहे थे। 
विशेष सचिव ने बताया कि प्रदेश में शिकायतों के समेकित , प्रभावी एवं समयबद्ध निस्तारण हेतु मुख्यमंत्री हेल्पलाइन टोल फ्री नम्बर 1076 पर टेलीफोन के माध्यम से आम नागरिकों द्वारा काल कर अपनी शिकायतें दर्ज करायी जा रही है। इन शिकायतों का समयबद्ध व गुणवत्तापूर्ण निस्तारण सुनिश्चित किया जाना है। उन्होंने कहा कि हर स्तर पर शिकायतकर्ता से फीडबैक लिया जा रहा है। शिकायतों के गुणवत्तापूर्ण निस्तारण की जवाबदेही अधिकारियों की है। सम्बन्धित अधिकारी प्राप्त शिकायतों को अग्रसारित न करें, बल्कि उसका गुणवत्तापूर्ण निस्तारण करें, जिससे शिकायतकर्ता को बार-बार न दौड़ना पड़े। 
प्रशिक्षण कार्यक्रम को कन्सल्टेंट मो. सैफ ने एल -1 , एल.-2 तथा एल -3  के अधिकारियों की दायित्वों के बारे में बताया। उन्हांेने बताया कि मुख्यमंत्री हेल्पलाइन के सम्बन्ध में काल सेंटर स्थापित किया गया है। काल सेंटर पर सभी विभागों के विषय विशेषज्ञ उपस्थित रहते हैं। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री हेल्पलाइन पर आर.टी.आई., न्यायालय से सम्बन्धित तथा दूसरे राज्यों की शिकायतें दर्ज नहीं की जाती।  उन्होंने बताया कि 13 फरवरी से काल सेंटर का कार्य प्रारम्भ कर दिया गया। उन्होंने बताया कि काल सेंटर पर प्राप्त होने वाली शिकायतें एल -1  को सन्दर्भित की जाती है। यदि एल -1 द्वारा शिकायत के निस्तारण से शिकायतकर्ता संतुष्ट नहीं है तो वह शिकायत एल -2 को सन्दर्भित की जाती है। सभी स्तर पर शिकायतों के निस्तारण की समय सीमा निर्धारित की गयी है। उन्होंने सुझाव दिया कि शिकायतकर्ता के शिकायत के निस्तारण की फोटोग्राफ्स भी ली जाय। 
मुख्यमंत्री हेल्पलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम में जिलाधिकारी संगीता सिंह , पुलिस अधीक्षक अमित वर्मा, अपर जिलाधिकारी (प्रशासन) बी.डी.सिंह, अपर जिलाधिकारी (वि.रा.) अमरनाथ राय, अपर पुलिस अधीक्षक सूर्यकांत त्रिपाठी, संयुक्त मजिस्ट्रेट /उपजिलाधिकारी जयसिंहपुर प्रणय सिंह, उपजिलाधिकारी सदर प्रमोद पाण्डेय, डी.डी.ओ. डाॅ.डी.आर.विश्वकर्मा, पी.डी.एस.के.द्विवेदी, जिला सूचना अधिकारी आर.बी.सिंह, डी.सी. एन.आर.एल.एम. बी.बी.सिंह, डी.सी. मनरेगा विनय कुमार श्रीवास्तव, डी.एस.टी.ओ. पन्नालाल , डी.आई.ओ. एन.आईसी. सोमेश कुमार श्रीवास्तव, समस्त क्षेत्राधिकारी /थानाध्यक्ष व सम्बन्धित उपस्थित थे।

Post A Comment: