दरभंगा से ब्रजेश कुमार

 NSUI दरभंगा के द्वारा NSUI जिलाउपाध्यक्ष आदित्य सिंह क्रांति के नेतृत्व में SSC exam को लेकर छात्र आक्रोश मार्च एवं एसएससी प्रमुख का पुतला दहन लहेरियासराय टॉवर पर किया गया। वहीं पर सभा को सम्बोधित करते हुए NSUI के जिलाध्यक्ष त्रिभुवन कुमार ने कहा कि    कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) की परीक्षाओं में हो रही धांधली और प्रश्‍नपत्र लीक होने से एसएससी की निष्‍पक्षता और पारदर्शिता पर सवाल उठने लगे हैं। एसएससी परीक्षा में सवाल लीक की घटनाओं में इजाफा हो रहा है। इससे एसएससी की विश्‍वसनीयता पर संकट छा गया है। उन्‍होंने कहा कि फरवरी महीने में टियर-2 परीक्षा के प्रश्‍नपत्र लीक हो गये। एसएससी का घोटाला ब्यापम का राष्ट्रीयकरण है, जहां पर नौकरी पैसे वालों के हाथों बेचने का काम किया जाता है। दिल्ली में एसएससी मुख्यालय के समक्ष 2 सप्ताह से छात्र सीबीआई जांच की मांग कर रहा है लेकिन सरकार तैयार नहीं है। इससे मेधावी और गरीब छात्रों को परेशानी झेलनी पड़ी।एसएससी की निष्‍पक्षता और विश्‍वसनीयता कायम करने के लिए  परीक्षाओं की सीबीआई जांच करायी जानी चाहिए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने लोकसभा चुनावों के दौरान युवाओं से प्रतिवर्ष 2 करोड़ नौकरी देने का वादा किया, लेकिन वो स्नातक,स्नातकोत्तर, इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल किए हुये छात्रों को पकौड़ा तलने की बात कर रहे हैं। देश के छात्र/युवा वर्ग में वर्तमान सरकार के प्रति नाराजगी है ।  वहीं उपाध्यक्ष अजय कुमार यादव ने कहा कि एसएससी यदि कोई गलत काम नहीं किया है तो छात्रों की सीबीआई जांच की मांग को क्यों नहीं मान रहे हैं, एसएससी पर न सिर्फ नौकरी बेचने का आरोप है बल्कि पेपर लीक का सूचना मिली है। आंदोलन रत छात्र  एसएससी 2016 में एक्जाम दिया था, लेकिन उसका परिणाम 2018 तक नहीं जारी किया गया है। उन्होंने कहा मोदी जी के भाषा में SSC को SLOW SERVICE Commission की संज्ञा दिया। मार्च में जिला उपाध्यक्ष सुफियान साहब जिला महासचिव दीपक कुमार दीपांशु प्रदेश संयोजक ज्ञानेंद्र कुमार झा  जिला संयोजक कमरे आलम कॉलेज अध्यक्ष मनीष चौधरी आशुतोष कुमार गोविंद कुमार शिबू   जीशान खान केशव कुमार मो इकबाल मो आतिफ  सोनू  निलिकेश समीर अल्फाज मो अरमान अजित कुमार ठाकुर मनीष कुमार मिथिलेश कुमार यादव नसीम अंकित कुमार मंडल वसीम  एवं दर्जनों कार्यकर्ताओं एवं छात्रों ने भाग लिया।


Post A Comment: