गोरखपुर से विनय कुमार मिश्र ।
2 माह तक चलेगा यह अभियान।
विवाद का निस्तारण करने के लिये राजस्व एवं पुलिस अधिकारी निर्धारित दिन पर जाकर करेंगें मामलें का निस्तारण।
एसडीएम, पुलिस क्षेत्राधिकारी, तहसीलदार थानाध्यक्ष तथा नायब तहसीलदार इस्पेक्टर के साथ गांव मे टीम बनाकर जयेंगें।
गोरखपुर ब्यूरों।16 अप्रैल से जिले  के सभी तहसीलो में भूमि विवाद निस्तारण करने के लिए अभियान चलाया जायेगा। दो माह के इस अभियान में  श्रावस्ती माडल पर विवाद का निस्तारण करने के लिये राजस्व एवं पुलिस अधिकारी निर्धारित दिन पर गांव मे जायेंगे तथा मामलें का निस्तारण करेंगे। जिलाधिकारी के. विजयेन्द्र पांडियन ने अभियान की तैयारी की समीक्षा किया तथा निर्देश दिया है कि निस्तारण के बाद गांव में किसी प्रकार की भूमि विवाद शेष नही रहना चाहिए।उन्होने एसडीएम द्वारा प्रस्तुत भूमि विवाद के मामलों की ग्राम वार सूची की समीक्षा किया। उन्होंने कहा कि तहसील दिवस मे प्राप्त भूमि विवाद एवं चकबन्दी के मामलों को भी ऐसे अवसर पर निपटायें।  ऐसे मौके पर आइजीआरएस, मुख्यमंत्री संदर्भ, चकबन्दी, तहसील समाधान दिवस, एवं थाना दिवस पर प्राप्त भूमि विवाद भी निस्तारित किये जायें।जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि एसडीएम, पुलिस क्षेत्राधिकारी, तहसीलदार थानाध्यक्ष तथा नायब तहसीलदार इस्पेक्टर के साथ गांव मे टीम बनाकर जयेंगें।
उन्होंने निर्देश दिया कि इस अवसर पर यह भी सुनिश्चित कर ले कि गांव में सरकारी भवन, स्कूल, ग्राम पंचायत, आंगनबाड़ी, नलकूप, आदि पर किसी प्रकार का अवैध अतिक्रमण न हो यदि पाया भी जाता है तो उसे भी हटाना सुनिश्चित करे।उन्होंने निर्देश दिया कि निस्तारण की सूचना अभियान के नोडल अधिकारी/सीआरओ को भिजवाना सुनिश्चित करे ताकि उसे पोर्टल पर फीड किया जा सकें।
उन्होंने कहा कि भूमि विवाद न होने की दशा में सम्बंधित लेखपाल इस आशय का प्रमाण पत्र उपलब्ध करायेगे। सूची में दर्ज भूमि विवाद के अलावा भी यदि कोई प्रकरण प्रकाश में आता है तो उसका भी निस्तारण टीम द्वारा किया जायेगा। बैठक में सीडीओ अनुज सिंह, सीआरओ बलराम सिंह सभी उप जिलाधिकारी तथा क्षेत्राधिकारी पुलिस उपस्थित रहें।

Post A Comment: