बहराइच 
महिला एवं बाल विकास मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा बहराइच सहित प्रदेश के अन्य 50 जनपदों में संचालित किये जा रहे ‘‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’’ अभियान के लिए वर्ष 2018-2019 के लिए वार्षिक कार्ययोजना तैयार किये जाने के उद्देश्य से सोमवार की देर शाम कलेक्ट्रेट सभागार में मुख्य विकास अधिकारी राम चन्द्र की अध्यक्षता में बैठक सम्पन्न हुई। 

बैठक के दौरान ‘‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’’ अभियान की सफलता के लिए कन्वर्जेन्स बैठक, मीडिया अभियान, क्षमता संर्वधन प्रशिक्षण, जागरूकता/प्रोत्साहन अभियान, एकल कन्या अभिभावक सम्मान, चिकित्सा शिविर/ओरियन्टेशन कार्यक्रम, बेबी शो, ग्राम स्तर पर हाइजीन व सेनीटेशन दिवस का आयोजन, विभिन्न विधाओं पपेट शो व नुक्कड़ नाटकों का आयोजन, सोशल मीडिया जैसे फेसबुक, ट्वीटर, इन्टाग्राम, व्हाट्सएप, ब्लाग एवं अन्य सोशल मीडिया के माध्यम से बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओं अभियान का सघन प्रचार-प्रसार, वाल पेंन्टिंग, सार्वजनिक बस, ट्रक, टैक्सी, रिक्शा सहित विभिन्न सरकारी व गैर सरकारी वाहनों का प्रचार-प्रसार के लिए उपयोग करना तथा आईईसी सामग्री निर्माण के सम्बन्ध में आवश्यक विचार विमर्श किया गया। 

इसके अलावा ‘‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’’ अभियान के प्रति जागरूकता लाये जाने के उद्देश्य से डिग्री कालेजो में जेण्डर व पीसीपीएनडीटी एक्ट द्वारा लगातार गिरते लिंग अनुपात एवं इसके परिणामों पर सेमिनारों का आयोजन करना, माॅ-बेटी मेले का आयोजन, स्कूल/कालेजों में सांस्कृतिक एवं अकादमिक गतिविधियों जैसे पेन्टिन्ग, मेंहदी, रंगोली, स्लोगन लेखन, निबन्ध लेखन, कहानी व कविता लेखन प्रतियोगिता का आयोजन करना। जनपद के संवेदनशील स्थानों व कम लिंगानुपात वाले स्थानों पर जागरूकता रैली, कैंडल मार्च तथा रैली आयोजन करना।

कम्युनिटी रेडियो के माध्यम से प्रचार-प्रसार, किशोरी क्लब अन्तर्गत ग्राम पंचायतों में बेटी क्लब का निर्माण तथा प्रत्येक क्लब में लड़कियों के लिए ढोलक, कैरम बोर्ड, बैडमिन्टन, लूडो, चेस, फुटबाल, साहित्य पुस्तकों की व्यवस्था, ड्राप आउट किशोरियों के चिन्हीकरण व उनकी अभिभावकों को उनकी शिक्षा पूरी करने के लिये प्रेरित करने के लिए अभियान संचालित करना, अभियान अन्तर्गत संचालित कार्यक्रमों व गतिविधियों के फालोअप एवं मूल्यांकन के लिए इन्डीकेटर्स के तरीके विकसित करने अत्यादि बिन्दुओं पर विचार विमर्श किया गया। 

बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी ने सभी सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिया कि विभाग से सम्बन्धित कार्ययोजना को समय से तैयार करें। उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि इस अभियान को सफल को बनाने के लिए गैर सरकारी संगठनों, स्वेच्छिक संस्थाओं, स्वयं सेवी संगठनों की सहभागिता सुनिश्चित की जाय। उन्होंने यह भी निर्देश अभियान अन्तर्गत जिला मुख्यालय से लेकर तहसील, ब्लाक एवं ग्राम स्तर के लिए माइक्रो प्लान तैयार किया जाय साथ जनपद से लेकर ग्राम स्तरीय अधिकारियों एवं कर्मचारियों की सहभागिता भी सुनिश्चित की जाय। 

इस अवसर पर नगर मजिस्ट्रेट प्रदीप कुमार यादव, उप जिलाधिकारी सदर एस.पी. शुक्ल महसी के डा. संतोष उपाध्याय, कैसरगंज के पंकज कुमार, पयागपुर के सिद्धार्थ यादव, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा. बलवन्त सिंह, जिला गन्नाधिकारी राक किशन सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी तथा खण्ड विकास अधिकारी मौजूद रहे।

Post A Comment: