मुज़फ़्फ़रपुर मुशहरी कुढ़नी से राहुल की रिपोर्ट
मुजफ्फरपुर में ट्रांसपोर्ट गोदाम का ताला तोड़ साड़ी के 48 बंडल चोरी कर लिए जाने के मामले का पुलिस ने शनिवार को उद्भेदन कर लिया। मामले के दो मुख्य आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर..
मुजफ्फरपुर में ट्रांसपोर्ट गोदाम का ताला तोड़ साड़ी के 48 बंडल चोरी कर लिए जाने के मामले का पुलिस ने शनिवार को उद्भेदन कर लिया। मामले के दो मुख्य आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

जिसमें थाना के सुगांव धांगड़टोली गांव निवासी भुनेश्वर राम का पुत्र विकास राम तथा कोरैया गांव निवासी मनान मियां का पुत्र अनवारुल हक है। इस घटना में शामिल दो और आरोपियों की पुलिस ने पहचान की है। बताया जाता है कि ट्रांसपोर्ट से दूसरे का माल रिसीव कर उड़ा लेने के मामले में एक बड़ा सिंडिकेट शामिल है। चारों आरोपी 29 मार्च देर शाम मुजफ्फरपुर के चांदनी चौक स्थित सिंडिकेट मूवर्स प्राइवेट लिमिटेड ट्रांसपोर्ट के गोदाम से 48 बंडल साड़ी दो ट्रकों पर लाद फरार हो गए। जिसे मुजफ्फरपुर में ही एक खाली गोदाम भाड़े पर ले रख दिया गया। मामले को ले ट्रांसपोर्ट के प्रबन्धक सुमन कुमार झा ने इसकी शिकायत ब्रह्मपुरा थाने को की। पुलिस ने मामले की जांच में बगल के सीसीटीवी कैमरे के फुटेज को खंगाला तो दोनो गाड़ियों पर गट्ठर लाद निकलते पिकअप गाड़ी की पहचान हुई। जिसके आधार पर गोदाम तक ले जाने की पुष्टि हुई। तब तक उक्त गोदाम से भी इन अपराधियों ने माल खाली कर दिया था। इस बीच किसी और मामले की टोह में 1 मार्च को अपनी बाइक से पहुंचे विकास राम व अनवारुल को गोदाम मालिक ने पहचान लिया। इस दौरान ये दोनों अपनी बाइक छोड़ भाग निकले। विकास राम की पहचान हुई।

दर्जनों लूट,हत्या और डकैती का आरोपी है विकास: इस घटना में गिरफ्तार विकास राम के बाबत थानाध्यक्ष सुनील कुमार ने बताया कि पश्चिमी एवं पूर्वी चंपारण जिले सहित दिल्ली में भी हत्या,लूट और डकैती के दर्जनों मामले लंबित हैं। जिसमें तिहाड़ जेल से लेकर मोतिहारी मंडल कारा में कई मामलों में जेल जा चुका है। जिसमे नरकटियागंज में यह कुख्यात रंभू राम का शागिर्द रहा। वहां भी इसने गोरख ठाकुर पर गोली और बम से हमला किया था। रखहीं के सरपंच के हत्या की भी इसने सुपारी ली थी। वहीं मोतिहारी के लड्डू मियां पर इसने गोली चलाई थी।सहित दर्जनों अन्य कांडों में यह शामिल रहा है।

बाइक चोरी की एफआईआर के लिए पुलिस पर दबाव बना रही थी विकास की मां: मुजफ्फरपुर में अपनी बाइक छोड़ फरार हुए विकास की मां गीता देवी उसके दूसरे दिन ही अपनी बाइक की चोरी का आवेदन ले थाने पहुंची। एफआईआर के लिए उसने पुलिस पर दबाव भी बनाया। तब से ही पुलिस ने विकास की गिरफ्तारी के लिए जाल बिछाना शुरू कर दिया। इसके लिए विकास को भेजने की बात भी पुलिस ने उसकी मां को कही। वह भी उसे हमेशा लाने की बात कहती रही। इस बीच शनिवार को वह पुलिस के बिछाए जाल में आखिरकार फंस गया। पुलिस ने थाना के छपवा चौक से उसे गिरफ्तार कर लिया। इस बाबत पुअनि सुनील कुमार ने बताया कि छपवा चौक पर गश्ती के दौरान भागने पर पकड़ लिया गया।

Post A Comment: