सुलतानपुर 
, जिलाधिकारी संगीता सिंह ने बताया कि शासन की नीतियों एवं विकास कार्यक्रमों के क्रियान्वयन में जनपद सुलतानपुर प्रदेश में आठवें स्थान पर है। उन्होंने विकास से जुड़े सभी अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि सभी अधिकारी पूरे उत्साह के साथ कार्य कर जिले को प्रदेश में प्रथम स्थान दिलाने में अपना महत्वपूर्ण योगदान दें। जिलाधिकारी आज कलेक्ट्रेट में विकास कार्यक्रमों की प्रगति की समीक्षा कर रही थी।
जिलाधिकारी ने सभी अधिकारियों को आईजीआरएस पोर्टल तथा मुख्यमंत्री हेल्पलाइन पर प्राप्त शिकायतों को सर्वोच्च प्राथमिकता पर गुणवत्तापूर्ण निस्तारण के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने स्वच्छ शौचालयों के निर्माण की प्रगति की समीक्षा में पाया कि 10 अप्रैल तक 24 हजार शौचालयों के निर्माण का लक्ष्य निर्धारित किया गया था, जिसके सापेक्ष 20 हजार से अधिक शौचालय का निर्माण हो चुका है, अवेशष शौचालयों का निर्माण 10 अप्रैल के पूर्व पूर्ण कर लिया जायेगा। उन्होंने बताया कि वृद्धावस्था पेंशन, निराश्रित महिला पेंशन तथा दिव्यांग पेंशन के लाभार्थियों को सभी किस्तें भेजी जा चुकी हैं। उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को सभी पेंशनरों के बैंक खाते आधार से लिंक कराने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने मनरेगा की समीक्षा में पाया कि मानव दिवस सृजित करने के लक्ष्य के सापेक्ष 119.67 प्रतिशत प्रगति रही। 
जिलाधिकारी ने प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) की समीक्षा में पाया कि 10 हजार 869 लक्ष्य के सापेक्ष 10 हजार 598 लाभार्थियों को द्वितीय किस्त जारी की गयी तथा 9 हजार 790 आवास पूर्ण हो चुके हैं। उन्होंने शतप्रतिशत लक्ष्य पूर्ण करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना की समीक्षा में पाया कि नगरीय क्षेत्रों में 58 उचित दर की दुकानों तथा ग्रामीण क्षेत्रों में 1021 उचित दर की दुकानें संचालित हैं। नगरीय क्षेत्र में 19468 तथा ग्रामीण क्षेत्रों में 03 लाख 84 हजार 119 कार्डों का डिजिटाईजेशन किया गया है। नयी सड़क निर्माण की समीक्षा में पाया गया कि 7.95 कि.मी. लम्बाई की सड़कें निर्मित कर शतप्रतिशत लक्ष्य लोक निर्माण विभाग द्वारा प्राप्त कर  लिया गया है। इसी प्रकार लोक निर्माण विभाग द्वारा 1468.53 कि.मी. सड़कों को गड्ढ़ा मुक्त कर शतप्रतिशत की उपलब्धि अर्जित की गयी। विद्युतीकरण कार्यक्रम की समीक्षा में पाया गया कि इस वर्ष 238 ग्रामों एवं 572 मजरों का उर्जीकरण किया गया तथा 3561 ट्रांसफार्मर बदले गये एवं 97 हजार 481 नये विद्युत कनेक्शन दिए गए। पारदर्शी किसान योजना के अन्तर्गत 308514 कृषकों का पंजीकरण किया गया, जिन्हें डीबीटी योजना से लाभान्वित किया गया। इस वर्ष 15433 मृदा नमूना स्वास्थ्य कार्ड वितरित किया गया। 
जिलाधिकारी ने बताया कि बेसिक शिक्षा के अन्तर्गत सभी छात्र/छात्राओं को यूनीफार्म, जूता मोजा, स्वेटर का वितरण किया गया तथा नियमित रूप से विद्यालयों में मध्यान्न भोजन बन रहा है। 
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी राधेश्याम , अपर जिलाधिकारी वि.रा. अमरनाथ राय, अपर जिलाधिकारी प्रशासन बी.डी.सिंह, सी.एम.ओ. डाॅ.सी.वी.एन.त्रिपाठी, डी.डी.ओ. डाॅ.डी.आर.विश्वकर्मा, उपनिदेशक कृषि शैलेन्द्र शाही, पी.डी. एस.के.द्विवेदी, जिला सूचना अधिकारी आर.बी.सिंह, डीसीएनआरएलएम बी.बी.सिंह, मनरेगा विनय कुमार श्रीवास्तव व सम्बन्धित उपस्थित थे। 
इस अवसर पर बेसिक शिक्षा की जिला स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक भी सम्पन्न हुई। 

Post A Comment: