िकास खंड तेजवापुर के अंतर्गत ग्राम पंचायत ढोढायल में कोटेदार से ग्रामीण परेशान  है I ग्रामीणों का कहना है कि न तो कोटेदार टाइम से खाद्यान वितरण करता है और नही तो मानक के अनुरूप लोगो को राशन मिल पा रहा है,यहाँ तक की यदि कोई इसका विरोध करता है तो  कोटेदार के लड़के लोगो को गाली देकर वहां से भगा देते है ,ये तो ये कोटेदार का यह भी कहना है कि जितना राशन मै दे रहा हूँ उतना लेना हो तो लो वरना यहाँ से चले जाओ ,तुम लोगो को मेरी जिससे भी शिकायत करनी हो तो करो मेरा कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता है Iकोटेदार की दबंगई यहाँ तक बढ़ गयी है कि एक ब्यक्ति पर 5 किलो राशन के बजाय 3 किलो ही देता है और तो और उसके नापतौल में भी कमी पाई गयी है Iग्रामीणों का कहना है कि यदि राशन की दुकान पर 35 किलो राशन तौलकर दिया गया हो और उसको दुसरे कांटे पर तौला  जाये तो वो 33 किलो ही निकलता  है ,ऐसे में ग्रामीणों का कहना है कि एक तो हमें वैसे ही मानक के अनुरूप राशन नहीं मिल रहा है और ऊपर से घटतौली हम लोगो की समस्या बनी हुई है Iइस ग्राम पंचायत में ऐसे भी 50 से अधिक राशन कार्ड धारक मिले जिनका राशन कार्ड बनने के बाद बेवजह कटवा दिया गया ,इस बारे में जब ग्राम प्रधान से लोगो ने पूछा तो कोटेदार और प्रधान का कहना है कि उच्च अधिकारियो ने तुम लोगो का राशन कार्ड काट दिया है Iऐसे में सवाल ये उठता है कि क्या जिन लोगो का राशन कार्ड बेवजह कटवा दिए गए है वो लोग राशन कार्ड के पात्र नहीं है I इस सवाल का जवाब पाने के लिए panचायत ढोढायल पहुचे और लोगो से पूछ -ताछ शुरू की तो परिणाम ये निकला कि यहाँ कोटेदार अपनी दबंगई के बलपर ग्रामीणों को नाजायज परेशान कर रहा है और 50 से अधिक लोगो का राशन कार्ड महज एक खुन्नस के चलते कटवा दिए गए है जो वास्तव में पात्र है I  ग्रामीणों का यह भी कहना है कि हम लोगो ने कई बार इसके सम्बन्ध में उच्च अधिकारियो से भी शिकायत कर चुके है लेकिन यदि कोई अधिकारी जाँच करने के लिए यहाँ आता भी  है तो कोटेदार के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं होती दिखाई देती है और तो और कोटेदार के राशन वितरण करने के तरीके में कोई बदलाव नहीं हो रहा है Iअब ऐसे में सवाल यह उठता है कि यदि इसी प्रकार रहा तो सरकार की मंशा कैसे पूरी होगी कि खाद्यान वितरण प्रणाली भी भ्रष्टाचार मुक्त तरीके से संचालित हो I सवाल ये भी उठता है कि यदि ऐसे कोटेदारो के खिलाफ जनता की शिकायत पर कोई कार्यवाही नहीं  की जाती है तो फिर आम जनमानस को कौन न्याय दिलाएगा I यदि कानून को मानने वाले ही कानून को तोटेंगे तो इनको सजा कौन देगा I  

Post A Comment: