बहराइच 
आमजन की समस्याओं के त्वरित निस्तारण के लिए प्रत्येक माह के प्रथम एवं तृतीय मंगलवार को आयोजित होने वाले सम्पूर्ण समाधान दिवसों की श्रृंखला अन्तर्गत माह अप्रैल के तृतीय मंगलवार को तहसील कैसरगंज में जिलाधिकारी माला श्रीवास्तव की अध्यक्षता में सम्पूर्ण समाधान दिवस का आयोजन किया गया। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने पुलिस अधीक्षक जुगुल किशोर, मुख्य विकास अधिकारी राम चन्द्र, उप जिलाधिकारी कैसरगंज पंकज कुमार व पुलिस क्षेत्राधिकारी दिनेश कुमार शर्मा व अन्य अधिकारियों के साथ जनसमस्याओं की सुनवाई करते हुए सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिया कि प्राप्त प्रार्थना पत्रों का एक सप्ताह के अन्दर निस्तारण करा दिया जाए। सम्पूर्ण समाधान दिवस के अवसर पर बेसिक शिक्षा, वेलफेयर सेक्टर से सम्बन्धित विभागों, स्वास्थ्य विभाग, पूर्ति विभाग, बाल विकास, लीड बैंक, कृषि, पशुपालन, प्रधानमंत्री आवास, पंचायती राज विभाग, मनरेगा तथा रिलायन्स कम्पनी द्वारा फसल बीमा योजना से समबन्धित प्रदर्शनी स्टाल लगाये गये।

सम्पूर्ण समाधान दिवस के अवसर पर ग्राम गजाधरपुर के भगौती प्रसाद व डिहवा शेर बहादुर की श्रीमती साबरा द्वारा प्रधानमंत्री आवास दिलाये जाने, गोड़हिया नं. 02 के रामरूप द्वारा कृषि भूमि में हिस्सा दिलाये जाने, जय कुमार बेवा नान्हू वर्मा द्वारा दबंगों के विरूद्ध कार्यवाही किये जाने, गोड़हिया न. 01 के सन्तराम द्वारा विपक्षी के विरूद्ध उच्चस्तरीय जाॅच कराये जाने, कोडरी के राम रूप द्वारा विद्युतीकरण, मोगईया के ताजुल हुसैन द्वारा कोटेदार को बदले जाने सहित अन्य फरियादियों द्वारा प्रार्थना-पत्र प्रस्तुत किये गये।

 सम्पूर्ण समाधान दिवस के अवसर पर किसान यूनियन के प्रतिनिधियों द्वारा माॅग की गयी कि ग्रामीण क्षेत्रों के लिए विद्युत आपूर्ति रोस्टर में बदलाव किया जाय। किसान प्रतिनिाियों की ओर से सुझाव प्राप्त हुआ कि साॅयकाल 06ः00 बजे से भेर में 05ः00 बजे तक तथा पूर्वान्ह 10ः00 बजे से अपरान्ह 04ः00 बजे तक विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करायी जाय। इस सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने विद्युत विभाग के अधीक्षण अभियन्ता को निर्देश दिया है कि यदि जनपद स्तर पर रोस्टर में बदलाव संभव न हो सके तो इस सम्बन्ध में शासन को उनकी ओर से पत्र भिजवाया जाय। उन्होंने सभी अधिकारियों को निर्देश दिया कि आईजीआरएस अन्तर्गत प्राप्त शिकायतों के निस्तारण पर और ध्यान दें ताकि वर्तमान उपलब्धि 80 प्रतिशत को बढ़ा कर जनपद व मण्डल की ग्रेडिंग में और सुधार लाया जा सके। उन्होंने निस्तारण की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दिये जाने का भी निर्देश दिया।  

जिलाधिकारी ने अधिशाषी अभियन्ता विद्युत व नलकूप को निर्देश दिया है कि यांत्रिक अथवा विद्युत दोष से बन्द पड़े सभी नलकूपों को तत्काल क्रियाशील कराया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि एक बार चालू हो जाने के बाद अगर कहीं से किसी नलकूप के बन्द होने की शिकायत प्राप्त हो तो उसे तत्काल ठीक कराना सुनिश्चित करेंगे। उल्लेखनीय है कि नलकूप तथा विद्युत विभाग द्वारा संचालित दर्शाये गये नलकूपों का खण्ड विकास अधिकारियों की ओर से सत्यापन कराये जाने पर इनमें से कुछ नलकूप बन्द पाये गये थे। जिलाधिकारी ने इस स्थिति पर कड़ी नाराज़गी व्यक्त करते हुए सम्बन्धित अधिकारियों को सचेत किया कि भविष्य में इसकी पुनरावृत्ति नहीं होनी चाहिए। 

इससे पूर्व जिलाधिकारी ने अन्य अधिकारियों के साथ तहसील परिसर में समाधान दिवस के अवसर पर विभिन्न विभागों द्वारा आयोजित किये प्रदर्शनी पण्डालों का अवलोकन किया। उन्होंने सम्बन्धित विभागों के प्रयासों की सराहना करते हुए निर्देश दिया कि आमजन का फीडबैक प्राप्त करने के लिए पंजिका भी रखी जाय। उन्होंने दस आयोजन को और प्रभावशाली बनाये जाने के लिए विभागीय प्रचार साहित्य का वितरण तथा विभाग द्वारा संचालित योजनाओं के आवेदन-पत्र इत्यादि भरवाये जाने की भी कार्यवाही को प्रमुखता प्रदान करने का निर्देश दिया।    

सम्पूर्ण समाधान दिवस के अवसर पर मुख्य चिकित्साधिकारी डा. ए.के. पाण्डेय, बन्दोबस्त अधिकारी चकबन्दी तेज प्रकाश सिंह, जिला विकास अधिकारी ओ.पी. आर्य, परियोजना निदेशक डीआरडीए अभिमन्यु सिंह, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा. बलवन्त सिंह, जिला गन्नाधिकारी रामकिशन, जिला कार्यक्रम अधिकारी सुनील कुमार श्रीवास्तव, उप निदेशक कृषि डा. आर.के. सिंह, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डा. अमर कान्त सिंह, जिला दिव्यांगजन सशक्तिकरण अधिकारी अशोक कुमार गौतम, पी.ओ. डूडा संजय सिंह, जिला समाज कल्याण अधिकारी श्रीमती लवी मिश्रा, खनन निरीक्षक जी.के. दत्ता सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी खण्ड विकास अधिकारी, थानाध्यक्ष व अन्य सम्बन्धित अधिकारी मौजूद रहे।

तहसील कैसरगंज में आयोजित सम्पूर्ण समाधान दिवस में प्राप्त 105 में से 25, महसी में प्राप्त 70 में से 05, नानपारा में प्राप्त 71 में से 15, मिहींपुरवा (मोतीपुर) में प्राप्त 33 में से 03, पयागपुर में प्राप्त 41 में से 08 तथा तहसील सदर बहराइच में प्राप्त 37 में से 09 प्रार्थना-पत्रों का निस्तारण मौके पर किया गया। तहसील कैसरगंज से इतर तहसीलों में आयोजित सम्पूर्ण समाधान दिवस सम्बन्धित उप जिलाधिकारियों नानपारा के गौरांग राठी आईएएस, महसी के डा. संतोष उपाध्याय, मिहींपुरवा (मोतीपुर) के कुॅवर वीरेन्द्र मौर्य, तहसील सदर बहराइच के एस.पी. शुक्ल तथा पयागपुर के सिद्धार्थ यादव की अध्यक्षता में सम्पन्न हुए।

Post A Comment: