बहराइच 02 अप्रैल। जिलाधिकारी माला श्रीवास्तव ने प्रभारी अधिकारी गेहूॅ खरीद/अपर जिलाधिकारी राम सुरेश वर्मा, उप जिलाधिकारी सदर एसपी शुक्ल के साथ कृषि उत्पादन मण्डी समिति परिसर बहराइच पहुॅचकर खाद्य एवं रसद विभाग के गेहूॅ क्रय केन्द्र का फीता काटकर जनपद में रबी विपणन वर्ष 2018-19 में मूल्य समर्थन योजना अन्तर्गत गेहूॅ खरीद का शुभारम्भ किया तथा क्रय केन्द्र पर ब्लाक हुजूरपुर के ग्राम आनन्दपुर के किसान तिलक राम पुत्र समयदीन के 47 कुण्टल गेहूॅ का अपने समक्ष तौल कराया। इस अवसर पर अपर जिला खरीद अधिकारी/जिला खाद्य एवं विपणन अधिकारी राम कैलाश सोनकर, सचिव मण्डी समिति सुभाष सिंह सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी व किसान मौजूद रहे। गल्ला मण्डी परिसर में मार्केटिंग, एफसीआई व पीसीयू के 01-01 तथा पीसीएफ द्वारा 02 कुल 05 केन्द्र स्थापित किये गये हैं। 

उल्लेखनीय है कि गेहूॅ खरीद का शुभारम्भ करने के पश्चात जिलाधिकारी ने मण्डी परिसर स्थित अन्य चार गेहूॅ क्रय केन्द्रों का भी निरीक्षण कर वहाॅ पर की गयी व्यवस्थाओं के बारे में केन्द्र प्रभारियों तथा किसानों से आवश्यक जानकारी प्राप्त की। पीसीयू क्रय केन्द्र निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने पाया कि यहाॅ पर ब्लाक चित्तौरा के ग्राम कुरवारीमाफी के किसान वीरेन्द्र कुमार श्रीवास्तव पुत्र प्रभू शंकर श्रीवास्तव के उपज की तौल की जा रही है। यहाॅ पर भी जिलाधिकारी ने अपने समक्ष किसान के उपज की तौल करायी। 

जिलाधिकारी ने अपर जिला खरीद अधिकारी सहित सभी क्रय एजेन्सियों के जिला प्रभारियों व समस्त एसडीएम को निर्देश दिया है कि नियमित रूप से क्रय केन्द्रों का निरीक्षण कर शासन द्वारा निर्धारित समर्थन मूल्य के आधार पर सभी किसानों से गेहूॅ की खरीद सुनिश्चित करायी जाय। उन्होंने अधिकारियों से कहा है कि निरीक्षण के दौरान क्रय केन्द्रों पर प्रदर्शित होने वाली विभिन्न जनोपयोगी सूचनाओं तथा किसानों व उनके पशुओं की सुख सुविधा के लिए किये गये प्रबन्धों के बारे में अवश्य जानकारी प्राप्त करें। उन्होंने कहा कि सभी क्रय केन्द्रों पर ऐसी व्यवस्थाएं की जाएं कि किसानों को अपनी उपज बेचने में कोई कठिनाई न हो। उन्होंने सचेत किया कि क्रय केन्द्रों पर किसानों के उत्पीड़न से सम्बन्धित कोई भी शिकायत प्राप्त होने पर कठोर से कठोर कार्यवाही की जायेगी।

डीएम ने सभी सम्बन्धित अधिकारियों को यह भी निर्देश दिया कि क्रय केन्द्रों के निरीक्षण के दौरान लोगों से इस बात की भी जानकारी प्राप्त की जाए इस क्षेत्र में बिचैलिये तथा दलाल किस्म के लोग तो सक्रिय नहीं है। निरीक्षण के दौरान क्रय केन्द्रों पर गेहूॅ की कम आवक जैसी बातों के संज्ञान में आने पर इनके कारणों की भी पड़ताल अवश्य की जाए। डीएम ने इस बात के सख्त निर्देश दिये हैं कि क्रय पंजिका व तौल पर्ची पर किसानों के मोबाइल नम्बर अवश्य अंकित किये जाएं। मानक से अधिक डैमेज अथवा मानकविहीन गेहूॅ पाये जाने पर ही रिजेक्ट की कार्यवाही की जाय। रबी विपणन वर्ष 2017-18 मंे मूल्य समर्थन योजनान्तर्गत प्रथम दिन 144.50 कुन्तल गेहूॅ की खरीद की गयी। जिसमें पीसीयू क्रय केन्द्र द्वारा 89.00 कु. तथा मार्केटिंग के क्रय केन्द्र द्वारा 55.50 कु. गेहूॅ खरीदा गया। 

उन्होंने सभी क्रय केन्द्रों को पूर्वान्ह 09ः00 बजे से साॅय 06ः00 बजे तक संचालित कराये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने यह भी कहा कि नीलामी पूर्वान्ह 11ः00 बजे एवं अपरान्ह 02ः00 बजे नियमानुसार उन्हीं दुकानों/शेडों पर की जाए जहाॅ पर किसानों की उपज भेजी गयी है। उन्होंने यह भी निर्देश दिया लघु एवं सीमान्त किसानों के लिए निर्धारित दिवसों का प्रत्येक दशा में अनुपालन सुनिश्चित कराया जाय। रबी विपणन वर्ष 2018-19 में मूल्य समर्थन योजना अन्तर्गत रू. 1735=00 प्रति कुण्टल की दर से गेहूॅ की खरीद की जायेगी। इसके अतिरिक्त उत्तर प्रदेश मण्डी परिषद द्वारा किसानों को उतरवाई व छनाई के लिए रू. 10=00 प्रति कुण्टल की दर से प्रदान किया जायेगा। 

Post A Comment: