वीरांगना फूलन देवी शहादत दिवस समारोह के दौरान दिखा निषाद समाज की महिलाओं का दम 
सन ऑफ़ मल्लाह के नेतृत्व में 10,000 महिलाओं ने निकाला पैदल मार्च
पैदल मार्च में वीरांगना फूलन देवी की 25 फीट की प्रतिमा को भी शामिल किया गया



पटना, 25 जुलाई 2018: निषाद विकास संघ तथा निषाद क्रांति की सफलता में समाज की माता-बहनों का योगदान अत्यंत अहम रहा है. निषाद आरक्षण की राह प्रशस्त करने में वे कंधे-से-कंधे मिलाकर चली हैं. हक़-अधिकार की लड़ाई में हर मोर्चे पर समाज की महिलाऐं आगे रही हैं. निषादों के अधिकार के लिए हमारे संघर्ष में उनकी भूमिका पुरुषों के बराबर ही महत्वपूर्ण रही है. उक्त बातें निषाद विकास संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष सन ऑफ़ मल्लाह श्री मुकेश सहनी ने पटना के एसके मेमोरियल हॉल में निषाद विकास संघ के महिला कार्यकर्ता सम्मलेन को संबोधित करते हुए कहा.
बुधवार को संघ द्वारा वीरांगना फूलन देवी शहादत दिवस समारोह सह महिला कार्यकर्ता सम्मलेन का आयोजन किया गया. साथ ही सन ऑफ़ मल्लाह के नेतृत्व में 10000 से अधिक महिलाओं ने वीरांगना फूलन देवी की 25 फीट की प्रतिमा के साथ पैदल मार्च निकालकर अपनी शक्ति का परिचय दिया. अभियंता भवन से वीरचंद पटेल पथ. इनकम टैक्स गोलंबर तथा डाकबंगला चौराहा होते हुए श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल तह विशाल पैदल मार्च निकाला गया. प्रदेश के राजनैतिक इतिहास में किसी एक जाति के महिलाओं द्वारा इतना विशाल पैदल मार्च कभी नहीं निकाला गया है. इस तरह सन ऑफ़ मल्लाह के नेतृत्व में निषाद समाज की महिलाओं ने कीर्तिमान स्थापित किया है. गौरतलब है कि सभी महिलाओं ने एक ही परिधान में पैदल मार्च किया. कार्यक्रम की विशेषता रही कि सभी महिलाऐं लाल कलर की साड़ी में थी. साथ ही सबसे सर पर संगठन की लाल पगड़ी तथा हाथ में झंडा और गले में गमछा था.
पैदल मार्च में हजारों पुरुष भी शामिल हुए. साथ ही हजारों मोटरसाईकल तथा सैकड़ों चार पहिया वाहन के सन ऑफ़ मल्लाह के नेतृत्व में निषाद समाज ने पटना में निषाद क्रांति का बोलबाला स्थापित किया. पैदल मार्च में वीरांगना फूलन देवी की 25 फीट की प्रतिमा को भी शामिल किया गया.  पैदल मार्च के पश्चात एसके मेमोरियल हॉल में वीरांगना फूलन देवी को श्रद्धांजलि देने के पश्चात सन ऑफ़ मल्लाह ने महिला कार्यकर्ता सम्मलेन को संबोधित किया.
सम्मलेन को संबोधित करते हुए सन ऑफ़ मल्लाह ने जानकारी दी कि 26 जुलाई से पुरे बिहार में घर वापसी अभियान चलाया जाएगा. इसके तहत दूसरी पार्टी में शामिल निषाद भाइयों को फूल का गुलदस्ता देकर निषाद विकास संघ में शामिल करवाया जाएगा. साथ ही आरक्षण नहीं मिलने की स्थिति में 26 अगस्त से पटना से हम निषाद आरक्षण संवाद यात्रा’ की शुरुआत करेंगे. इसके तहत प्रदेश के प्रत्येक जिलों में समाज के लोगों के बीच जाकर हक़-अधिकार की लड़ाई को घर-घर तक पहुँचाया जाएगा. साथ ही 7 अक्टूबर को पटना के गाँधी मैदान में लाखों लोगों की उपस्थिति में निषाद आरक्षण महारैला’ कर पार्टी के नाम की घोषणा की जाएगी.
सन ऑफ़ मल्लाह ने कहा कि 11 मार्च को मुजफ्फरपुर, 8 अप्रैल को मोतिहारी तथा 13 मई को मुंगेर में चिलचिलाती धूप में हजारों की संख्या में निषादों ने मोटरसाईकल महारैली में भाग लेकर निषादों के प्रभाव का एहसास करवाया. तत्पश्चात 10 जून को बेगूसराय में 42 डिग्री की चिलचिलाती धूप में तथा 1 जुलाई को दरभंगा में मूसलाधार बारिश में विशाल मोटरसाईकिल महारैली का आयोजन कर निषादों का डंका बजाया है. उन्होंने कहा कि बिहार के विभिन्न जिलों में विशाल मोटरसाईकल महारैली तथा विशाल सभा कर निषाद क्रांति का डंका बजाने के बाद हमने पटना में भी निषाद एकता की चट्टानी मजबूती का परिचय दे दिया है.
सम्मलेन की अध्‍यक्षता कर रहीं संघ प्रदेश महिलाध्यक्ष श्रीमती निर्मला सहनी ने कहा कि फूलन देवी एक महान क्रांतिकारी महिला थी. टाइम मैगजीन द्वारा उन्हें विश्व की चौथी सबसे प्रभावशाली महिला घोषित किया गया था. मिर्जापुर से लोकसभा सांसद रही फूलन देवी दशकों से नारी शक्ति की प्रतीक रही हैं. आयरन लेडी के नाम से मशहूर फूलन देवी का वंचित समाज में सामाजिक तथा राजनीतिक क्रांति लाने में अत्यंत उल्लेखनीय योगदान है. अपनी कर्मठता तथा बलिदान के कारण फूलन देवी नारी सशक्तिकरण की प्रतीक के तौर पर जानी जाती हैं. पटना की सड़कों पर आरक्षण के लिए उतरी हजारों महिलाओं ने साफ़ संकेत दे दिया है कि अगर हमें आरक्षण सहित हक़-अधिकार नहीं मिला तो आगामी चुनाव में निषाद समाज से वादाखिलाफी करने वाली पार्टियों का बिहार से सफाया हो जाएगा.
सम्मलेन के दौरान मंच संचालन प्रदेश महिला उपाध्यक्ष श्रीमती नीतू सिंह निषाद ने किया। इसके अलावा निषाद समाज के लोगों का स्‍वागत श्रीमती सुभद्रा भारती ने किया। सममेलन में संघ की प्रदेश महिला उपाध्यक्ष श्रीमती स्वर्णलता सहनीबेगूसराय महिला जिलाध्यक्ष श्रीमती सुभद्रा भारतीकटिहार महिला जिलाध्यक्ष श्रीमती चंदा कुमारी निषादश्रीमती मनोरमा देवीश्रीमती किरण बिंदश्रीमती कुमारी नीलमप्रदेश महिला उपाध्यक्ष श्रीमती सुधा चौहानखगडि़या जिलाध्‍यक्ष श्रीमती सविता निषाद, कैमूर महिला जिलाध्यक्ष श्रीमती विजयंता बिंद, श्रीमती रेणु देवी बम्पर, श्रीमती अन्‍नू कुमारी बिंद, श्रीमती ममता चौहान, श्रीमती निर्मला सहनी, श्रीमती राजपति देवी, श्रीमती शारदा देवी उर्फ वीणा देवी, श्रीमती मीना भारती सहित संघ के राज्य की तमाम महिला पदाधिकारी उपस्थिति रहीं.

Post A Comment: