प्रशिक्षित बेरोजगारों को सेवायोजित कराये जाने हेतु आयोजित करायें भव्य रोजगार मेला: कामरान रिज़वी

बहराइच 
ग्राम स्वराज अभियान के द्वितीय चरण के लिए भारत सरकार द्वारा नामित नोडल अधिकारी संयुक्त सचिव ग्रामीण विकास मंत्रालय, भारत सरकार कामरान रिज़वी ने विकास भवन सभागार में आयोजित बैठक में अभियान अन्तर्गत संचालित कार्यक्रमों की योजनावार समीक्षा करते हुए निर्देश दिया कि कौशल विकास मिशन अन्तर्गत प्रशिक्षित बेरोज़गारों को अधिक से अधिक संख्या में सेवायोजित कराये जाने के उद्देश्य से भव्य रोज़गार मेले का आयोजन करायें।
बैठक के दौरान नोडल अधिकारी ने यह भी निर्देश दिया कि महिला एवं बाल विकास विभाग अन्तर्गत संचालित योजनाओं को पूरी शिद्दत के साथ क्रियान्वित कराया जाय। उन्होंने कहा कि आकांक्षात्मक जनपद बहराइच में दूसरे अन्य जिलो की तुलना में कुपोषण की समस्या अधिक है। श्री रिज़वी ने निर्देश दिया कि जनपद को कुपोषण से मुक्त कराये जाने के उद्देश्य से शासन द्वारा संचालित सभी कार्यक्रमों को पूरी क्षमता के साथ लागू करें। शिक्षा के स्तर में सुधार लाने के उद्देश्य श्री रिज़वी ने निर्देश दिया कि ड्राप आउट होने वाले बच्चों के स्कूल छोड़ने के कारणों की जानकारी प्राप्त की जाये और जहाॅ तक संभव हो, उसे दूर कर बच्चों को पुनः स्कूल में दाखिला कराये जाने का प्रयास किया जाय। 
श्री रिज़वी ने कहा कि नीति आयोग द्वारा चिन्हित देश के 118 पिछड़े जनपदों में बहराइच भी शामिल है। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश के 08 जनपद ऐसे हैं जिन्हें पिछड़े जनपदों की सूची में स्थान प्राप्त हुआ है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार इस बात के लिए दृढ़ संकल्पित है कि विकसित और पिछड़े जनपदों के बीच की खाई को वर्ष 2022 तक समाप्त कर दिया जाये। उन्होंने कहा कि शिक्षा, स्वास्थ, कृषि, इन्फ्रास्ट्रक्चर इत्यादि के क्षेत्र में तरक्की के माध्यम से ही जनपद को अग्रणी जनपद की श्रेणी में लाया जा सकता है। उन्होंने सभी अधिकारियों का आहवान्ह किया कि उपलब्ध संसाधनों का सदुपयोग करते हुए बेहतर कार्य करें ताकि निर्धारित लक्ष्य को समय से प्राप्त कर लिया जाय।
नोडल अधिकारी ने जनपद के अधिकारियों को निर्देश दिया कि केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा संचालित जनकल्याणकारी योजनाओं और कार्यक्रमों को समाज के अन्तिम पायदान पर खड़े व्यक्ति को ध्यान में रखकर क्रियान्वित करें। उन्होंने कहा कि विकासपरक योजनाओं एवं जनकल्याणकारी कार्यक्रमों का क्रियान्वयन कराते समय गुणवत्ता को शीर्ष प्राथमिकता प्रदान की जाय। 
बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी ने बताया कि जनपद में 01 जून से 15 अगस्त 2018 तक संचालित होने वाले ग्राम स्वराज अभियान अन्तर्गत 14 ब्लाकों के 1031 ग्राम पंचायतों में अब तक प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत लक्ष्य 92594 के सापेक्ष 30332, सौभाग्य योजना के तहत लक्ष्य 196360 के सापेक्ष 6701, उजाला योजना के तहत लक्ष्य 82480 के सापेक्ष 13771, प्रधानमंत्री जन-धन योजना के तहत लक्ष्य 126994 के सापेक्ष 101121, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना के तहत लक्ष्य 79412 के सापेक्ष 40386, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत लक्ष्य 130453 के सापेक्ष 70395 तथा मिशन इन्द्रधनुष के तहत लक्ष्य 44888 के सापेक्ष 45613 की पूर्ति की गयी है। जिलाधिकारी माला श्रीवास्तव ने नोडल अधिकारी को आश्वस्त किया कि बैठक के दौरान जो भी निर्देश व मार्गदर्शन प्राप्त हुए हैं उनका अक्षरशः अनुपालन सुनिश्चित कराया जायेगा। 
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी राहुल पाण्डेय, जिला विकास अधिकारी वीरेन्द्र सिंह, परियोजना निदेशक डीआरडीए अनिल कुमार सिंह, लीड बैंक प्रबन्धक आर.वी.एस. राजपूत, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी एस.के. तिवारी, जिला पूर्ति अधिकारी राकेश कुमार, उप निदेशक कृषि डा. आर.के. सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी डा. ए.के. पाण्डेय, जिला कार्यक्रम अधिकारी सुनील कुमार श्रीवास्तव सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी मौजूद रहे। 

Post A Comment: