सबरी संकल्प योजना में आधार फीडिंग की कच्छपगति पर सीडीपीओ बलहा कार्रवाई की ज़द में

बहराइच 
जिला स्तरीय पोषण समिति व कुपोषण मुक्त गाॅवों की प्रगति की समीक्षा के लिए शुक्रवार की देर शाम कलेक्ट्रेट्र सभागार में आयोजित बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने पाया कि जनपद के लिए चयनित 82 गाॅवों के लिए नामित 41 नोडल अधिकारियों में से मात्र 36 अधिकारियों द्वारा ही प्रगति आख्या उपलब्ध करायी गयी है। इस स्थिति का कड़ा संज्ञान लेते हुए जिलाधिकारी ने बैठक से अनुपस्थित रहने वाले तथा प्रगति आख्या उपलब्ध न कराने वाले अधिकारियों का अग्रिम आदेशों तक वेतन बाधित करने का निर्देश दिया। इसी प्रकार सबरी संकल्प योजना में आधार फीडिंग की कच्छपगति पर सीडीपीओ बलहा के विरूद्ध कार्रवाई किये जाने का निर्देश दिया।
बैठक में यह भी ज्ञात हुआ कि विगत माह कुछ ग्रामों में ग्राम स्वास्थ पोषण दिवस का आयोजन नियमित रूप से नहीं किया गया है। इस सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि ग्राम स्वास्थ पोषण दिवस आयोजन के सम्बन्ध में समस्त प्रभारी चिकित्साधिकारियों से आख्या प्राप्त की जाय तथा ऐसे स्थान जहाॅ पर बैठकें नहीं आयोजित हुई हैं इसके लिए जिम्मेदार अधिकारियों एवं कर्मचारियों के विरूद्ध कार्यवाही भी की जाय। 
जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि ग्राम स्वास्थ पोषण दिवस के अवसर पर राजस्व तथा विकास विभाग के भी ग्राम स्तरीय अधिकारियों एवं कर्मचारियों को आमंत्रित किया जाय। उन्होंने ग्राम स्वास्थ पोषण दिवस के अवसर पर ग्राम प्रधान व अन्य क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों को भी आमंत्रित कर ग्राम के विकास विशेषकर स्वच्छता, जल निकासी, अपशिष्ट प्रबन्धन इत्यादि की कार्ययोजना तैयार कर उसे मनरेगा तथा राज्य वित्त आयोग के मद से क्रियान्वित भी करें। 
जिला स्तरीय पोषण समिति की बैठक में कुछ बाल विकास परियोजना अधिकारियों द्वारा बताया गया कि पोषण पुनर्वास केन्द्रों का संचालन ठीक ढंग से न हो पाने के कारण कुपोषित बच्चों के इलाज में दिक्कत आ रही है। इस सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिया कि जिले में संचालित सभी 09 पोषण पुनर्वास केन्द्रों में अब तक भर्ती हुए बच्चों तथा उनके फोलोअप के सम्बन्ध में की गयी कार्यवाही का विवरण प्राप्त किया जाय। उन्होंने सीएमओ को यह भी निर्देश दिया कि सभी पोषण पुनर्वास केन्द्रों पर हेल्पडेस्क भी स्थापित करायें। 
जिलाधिकारी ने सभी बाल विकास परियोजना अधिकारियों को निर्देश दिया कि समस्त आॅगनबाड़ी केन्द्रों का रंग-रोगन कराकर उन्हें साफ-सुथरा रखा जाय तथा विभागीय निर्देशानुसार आयोजित होने वाले सभी दिवसों को शासन की मंशानुसार मनाया जाय। उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि आॅगनबाड़ी केन्द्रों पर संचालित होने वाली सभी गतिविधियों के सुव्यवस्थित अभिलेखीकरण का भी निर्देश दिया।  
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी राहुल पाण्डेय, ज्वाईन्ट मजिस्ट्रेट प्रशिक्षु आईएएस प्रभाष कुमार, मुख्य चिकित्साधिकारी डा. ए.के. पाण्डेय, जिला विकास अधिकारी वीरेन्द्र सिंह, उप निदेशक कृषि डा. आर.के. सिंह सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी, प्रभारी चिकित्साधिकारी व बाल विकास परियोजना अधिकारी मौजूद रहे।

Post A Comment: