दशहरा महोत्सव में लोक गीतों पर झूमे श्रोता
दशहरा महोत्सव में लोगों पर चढ़ा भक्ति गीतों का रंग

माई के चुनरी देखो चंदा चमके सूरज दमके, तारे झिलमिल झिलमिल झलके

लोक गायिका नीतू नवगीत ने देवी गीतों पर झूमाया


बेलागंज (गया): 17 अक्टूबर,
एवं संस्कृति विभाग  बिहार सरकार तथा अनुमंडल  प्रशासन द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित बाबा कोटेश्वर नाथ दशहरा महोत्सव में पहले दिन  भोजपुरी के लोकप्रिय गायक  पवन सिंह ने जहां अपने हिट नंबर से  लोगों को रोमांचित किया वहीं दशहरा महोत्सव के दूसरे दिन पंजाब की विख्यात सूफी गायिका  डॉ ममता जोशी  और म बिहार की प्रसिद्ध लोक गायिका डॉ नीतू कुमारी नवगीत गीत ने एक से बढ़कर एक प्रस्तुतियों के माध्यम से लोगों को झुमाया । ममता जोशी ने जहां छाप तिलक सब छीनी रे  और दमा दम मस्त कलंदर जैसे  गीतों से लोगों को मदहोश किया  वही लोग गायिका नीतू नवगीत ने कार्यक्रम में भक्ति गीतों से रंग जमाया । उन्होंने मां दुर्गा के विविध रूपों की चर्चा करते हुए माई के चुनरी में देखो चंदा चमके सूरज दमके, तारा झिलमिल झिलमिल झलके, मां का रूप सुहावन बारा रे, झूलेली झुलनवा माई झूला झूले ना, पूजे दुनिया चरणीय तोहार माई बाटे महिमा तोहार हो अपार माई, आपन भक्तों से करेलू तू प्यार माई, लाली चुनरिया शोभे हो शोभे लाली टिकुलिया माई के भा्वे लाल रंगवा हो , शोभे लाली चुनरिया, शिव के बरतिया अइले गौरी के नगरिया सब रंग पियरे पियरे ना, मांगी ला हम वरदान ए गंगा मैया मांगी ले हम  वरदान हे गंगा मैया सहित अनेक भक्ति गीतों की प्रस्तुति की । भक्ति गीतों को सुनकर श्रोताओं का समूह भक्ति के सागर में गोते लगाता रहा । गायिका नीतू कुमारी नवगीत के साथ नाल पर मनोज कुमार सुमन, हारमोनियम पर राकेश कुमार, बैंजो पर अशोक कुमार सिंहऔर तबला पर रविंद्र मिश्रा ने संगत किया । गायक आलोक चौबे ने हम्मा हम्मा और तेरे रश्के कमर सहित अनेक फिल्मी गीतों को पेश किया । इस अवसर पर बिहार के लोकायुक्त श्याम किशोर शर्मा, गया सदर के अनुमंडल पदाधिकारी सूरज सिन्हा सहित अनेक अधिकारी और गणमान्य लोग उपस्थित रहे ।

Post A Comment: