मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने ली कोटा में चुनाव तैयारियों की समीक्षा बैठक

-मुख्य निर्वाचन अधिकारी


जयपुर, 26 अक्टूबर। मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्री आनन्द कुमार ने कहा कि विधानसभा आमचुनाव त्रुटी रहित, निष्पक्ष एवं पारदर्शिता के साथ सम्पन्न कराने के लिए अधिकारी टीम भावना के साथ कार्य करें। उन्होंने आम मतदाता भयमुक्त होकर मतदान कर सकें इसके लिए आवश्यक कदम उठाने एवं मतदान केन्द्रों पर मूलभूत सुविधांऎे समय पर तैयार करने के निर्देश दिये।


मुख्य निर्वाचन अधिकारी शुक्रवार को कोटा के टैगोर सभागार में विधानसभा चुनाव की तैयारियों की समीक्षा बैठक में उपस्थित संभाग के अधिकारियों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि चुनाव के दौरान दिये गये दायित्व समय पर पूरे किये जायें। चुनाव आयोग द्वारा दिये गये निर्देशों के अनुरूप सभी तैयारियां निर्धारित समय पर गुणवत्ता के साथ पूरी करें। उन्होने कहा कि इस बार चुनाव आयोग की थीम प्रत्येक दिव्यांग को मतधिकार के लिए जागरूक कर उन्हें आवश्यक सुविधाएं प्रदान कर मतदान पहुंचाने की है।


इसके लिए सभी निर्वाचन अधिकारी मतदान केन्द्रों पर आवश्यक सुविधाएं समय पर तैयार करते हुए दिव्यांगजनों को सूचीबद्ध करें। उन्होंने कहा कि प्रत्येक मतदान केन्द्र पर हेल्प डेस्क बनवाकर एनसीसी, स्काउट एवं पुलिस कैडेट के विद्यार्थियों को चिन्हित कर मतदाताओं की सहायता के लिए उपलब्ध रखना सुनिश्चित करें। उन्होंने मतदान केन्द्रों पर आम मतदाताओं के लिए छाया-पानी एवं बैठक की व्यवस्था करने, मतदान केन्द्रों पर पर्याप्त रोशनी के लिए अस्थाई विद्युत कनेक्शन कराने, वेबकास्टिंग कराये जाने वाले मतदान केन्द्रों को चिन्हित करने के निर्देश दिये।


मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि आदर्श आचार संहिता की पालना में किसी तरह की ढिलाई नहीं बरती जाये। आवश्यक स्थानों पर चैकपोस्ट लगाकर चुनाव आयोग के निर्देशों की पालना के लिए एसएसटी, वीएसटी को भी लगातार सक्रिय रखा जाये। उन्होंने कहा कि संवेदनशील, अतिसंवेदनशील एवं भयग्रस्त मतदान केन्द्रों को चिन्हित कर वहां पर अतिरिक्त जाब्ता लगाने का प्लान तैयार करने एवं फ्लेगमार्च के साथ चौपाल आयोजित कर आम मतदाताओं को भयमुक्त होकर मतदान करने की बात कही। उन्होंने प्रत्येक मतदान केन्द्रवार संचार का प्लान बनाकर सोशल मीडिया के माध्यम से आम मतदाताओं तक पहुंच बनाने का सुझाव दिया। उन्होंने कहा कि आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों को चिन्हित कर पाबंद करने की कार्यवाही के साथ संबंधित क्षेत्रों में समय-समय पर फ्लैगमार्च भी करें।


संभागीय आयुक्त श्री के.सी.वर्मा ने सभी जिलों में चुनाव आयोग के निर्देशों की अक्षरशः पालना करते हुए सभी तैयारियां निर्धारित समय में पूरी करने के लिए प्लान बनाकर कार्य करने के निर्देश दिये। पुलिस महानिरीक्षक कोटा रेंज आनन्द श्रीवास्तव ने कहा कि आम मतदाता भयमुक्त होकर अपने मत का प्रयोग करें, आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों को पाबंद करने एवं चैकपोस्ट लगाकर अवैध गतिविधियों पर पूरी तरह से अंकुश लगाना सुनिश्चित करें।

नवाचार अपनाएं


मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने सभी जिलों में नवाचार अपनाने पर विशेष जोर देते हुए कहा कि इस प्रकार कार्य करें कि कोई भी मतदाता मतदान से वंचित नहीं रहे। उन्होंने स्वीप गतिविधियों के साथ अन्य गतिविधियों में भी नवाचार अपनाने की बात कही। उन्होंने कोटा में महिला कर्मियों को मतदान ड्यूटी लगाने, सी-विजिल मोबाईल एप की समस्याओं के निराकरण, बारां में दिव्यांगजनों को मतदान का मैसेज देनेे के नवाचारों की सराहना की।


जिला निर्वाचन अधिकारी श्री गौरव गोयल ने बताया कि महिला कर्मियों की उपलब्धता को देखते हुए शहरी क्षेत्र के मतदान केन्द्रों पर महिला कर्मियों को मतदान कराने की जिम्मेदारी सौंपी जा रही है। इसमें सुरक्षा, मतदान, बीएलओ एवं मतदान सहायक की जिम्मेदारी भी महिलाएं संभालेंगी।


शिकायतों का समय पर हो निराकरण

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने विभिन्न माध्यमों से चुनाव संबंधी प्राप्त होने वाली शिकायतों का समय पर पारदर्शिता के साथ निराकरण करने एवं विभिन्न अनुमतियों के लिए चुनाव आयोग के मापदण्डों की पालना करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि सी-विजिल मोबाईल एप् पर प्राप्त होने वाली शिकायतेें निर्धारित समय पर निस्तारित की जायें। आचार संहिता से संबंधित प्रकरणों में भी पारदर्शिता के साथ कार्य करें।


स्वीप गतिविधियां घर-घर पहुंचे

अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्री जोगाराम ने कहा कि स्वीप गतिविधियों को प्रत्येक विधानसभावार मतदान केन्द्रों तक पहुंचाने के साथ अधिक से अधिक लोगों को ईवीएम व वीवीपेट की जानकारी दें। उन्होंने कहा कि प्रत्येक मतदाता अपने मताधिकार का स्वतंत्रतापूर्वक उपयोग करें, इसके लिए घर-घर तक मतदान का संदेश पहुंचाया जाये। स्वयंसेवी संस्थाओं, सामाजिक संगठनों एवं विभिन्न सरकारी एजेंसियों की भी इसमें सहायता लेे। उन्होंने वीवीपेट एवं ईवीएम से मॉकपोल के लिए प्रत्येक बूथ तक पहुंच बनाने के निर्देश दिये। सी-विजिल मोबाईल एप से समस्याओं के निस्तारण की सफल कहानियां भी प्रचारित करने का सुझाव दिया।

Post A Comment: