व्यवस्था को सरल और पारदर्शी बनाता है

ईओडीबी और सिंगल विण्डो सिस्टम-उद्योग आयुक्त डॉ. समित शर्मा


जयपुर, 26 अक्टूबर। उद्योग आयुक्त डॉ. समित शर्मा ने इज ऑफ डूइंग बिजनस से जुड़े 15 विभागों से माइण्डसेट में बदलाव लाते हुए फेसिलेटर की भूमिका में आगे आने को कहा है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार के औद्योगिक नीति एवं संवद्र्धन विभाग द्वारा अब बिजनस रिफोम्र्स एक्शन प्लान की क्रियान्विति के फीड बैक के आधार पर राज्यों को रैंकिंग दी जाएगी ऎसे में संबंधित विभागों द्वारा समयबद्ध निष्पादन की अहम भूमिका हो जाती है।


  उद्योग आयुक्त डॉ. समित शर्मा शुक्रवार को उद्योग भवन मेें बीआईपी, उद्योग विभाग, रीको, डीओआईटी सहित 15 विभागों के नोडल अधिकारियों की एक दिवसीय कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने बताया कि इस साल केन्द्र सरकार द्वारा 28 फरवरी तक 80 बिन्दुओं के फीडबैक के आधार पर ही राज्यों को रैंकिंग दी जाएगी। नए निर्देशों के अनुसार अब चार विभागों के 7 नए बिन्दुओं सहित 80 पाइंट्स में कारोबार को आसान बनाने के लिए सुधारों से जुड़ी सभी आवश्यक सेवाओं को समाहित किया गया है। उन्होंने बताया कि ईओडीबी बिन्दुओं के क्रियान्वयन में राजस्थान प्रमुख राज्योें में शामिल रहा है और शुरु से ही लीडर और टॉप एचिवर प्रदेश रहा है।


डॉ. समित शर्मा ने बताया कि ऑनलाईन सेवाओं से व्यवस्था में सरलीकरण और पारदर्शिता आती है। ईओडीबी और सिंगल विण्डो सिस्टम इसीको ध्यान मेें रखकर बनाया गया है। उन्होंने बताया कि पोर्टल पर संबंधित विभागों के नियम, कानून कायदों सहित समस्त जानकारी उपलब्ध कराई गई है। उन्होंने विभागों के परस्पर सहयोग की आवश्यकता भी प्रतिपादित की। इस अवसर पर ईओडीबी में सहकारिता के ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, मेडिकल की ऑनलाइन ड्रग लाइसेंस सहित विभिन्न सेवाओं में अच्छा कार्य होने की सराहना की गई।


उद्योग विभाग के उपनिदेशक श्री संजय मामगेन ने विस्तार से ईओडीबी के नए प्रावधानों की जानकारी दी। सूचना एवं प्रोद्यौगिकी विभाग के श्री राजीव गुजराल ने पोर्टल की जानकारी देते हुए बताया कि पोर्टल इंटरेक्टिव होने के साथ ही सभी आवश्यक जानकारियोें के समावेश किए हुए हैं।

बीआईपी की सीजीएम रीतु लोहिया ने बीआईपी की कार्यप्रणाली, श्री नागेश ने सिंगल विण्डो सिस्टम, श्रीमती मलार ने एसवीसीएस की प्रगति की जानकारी कम्यूटर प्रजेटेंशन के माध्यम से दी।


कार्यशाला में सिंगल विण्डो सिस्टम व ईओडीबी के संबंध में अवेयरनेस प्रोग्राम चलाए जाने की आवश्यकता प्रतिपादित की गई। इस अवसर पर 15 विभागों के नोडल अधिकारियों ने हिस्सा लिया।

Post A Comment: