सोनपुर मंडल में रन फॉर यूनिटी का आयोजन
 बुधवार दिनांक 31 अक्टूबर 2018
 लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल के जन्म दिवस राष्ट्रीय एकता को समर्पित दौड़ का आयोजन सोनपुर रेल मंडल में किया गया जिसमें रेल कर्मियों के अलावा केंद्रीय विद्यालय और संत जोसेफ स्कूल के बच्चों ने भाग  लिया| रन फॉर यूनिटी कार्यक्रम में रेल सुरक्षा बल के जवानों  एवं स्काउट गाइड के सदस्यों ने भी हिस्सा लिया| सोनपुर के मंडल रेल प्रबंधक अतुल्य सिन्हा ने मंडल कार्यालय में हरी झंडी दिखाकर दौड़ को रवाना किया जो बाद में स्काउट डेन पर जाकर समाप्त हुई| रन फॉर यूनिटी में अपर मंडल रेल प्रबंधक पीके सिंहा,वरीय मंडल कार्मिक अधिकारी अशोक कुमार, वरीय मंडल वाणिज्य प्रबंधक ए के पांडेय, मुख्य चिकित्सा निदेशक डॉ जीएन पांडा,  वरीय मंडल अभियंता समन्वय अरुण कुमार यादव, वरीय मंडल संरक्षा अधिकारी वीरपाल सिंह, वरीय मंडल संकेत एवं दूरसंचार अभियंता सुमंत लाल, वरीय मंडल विद्युत इंजीनियर किशोरी लाल, मंडल सुरक्षा आयुक्त रमन कुमार, मंडल यांत्रिक अभियंता पावर आदित्य उज्जवल,  सहायक वाणिज्य प्रबंधक विश्वनाथ, अध्यक्षा महिला कल्याण संगठन श्रीमती सोनाली सिन्हा सहित सभी प्रमुख अधिकारियों एवं महिला कल्याण संगठन की सदस्यों ने भी हिस्सा लिया| रन फॉर यूनिटी कार्यक्रम के बाद स्काउट देन में संगोष्ठी का आयोजन किया गया जिसमें सरदार वल्लभभाई पटेल के व्यक्तित्व और कार्यों पर प्रकाश डालते हुए मंडल रेल प्रबंधक अतुल्य सिन्हा ने कहा कि सरदार पटेल ने आजादी के बाद विभिन्न रियासतों के एकीकरण में प्रमुख भूमिका निभाई और भारत को कई टुकड़ों में बट ने से बचाया| सरदार पटेल राष्ट्रीय एकता के ऐसे शिल्पी हैं जिन्हें आधुनिक भारत के निर्माण का श्रेय दिया जाना चाहिए| अपर मंडल रेल प्रबंधक पीके सिन्हा ने कहा कि स्वतंत्रता संग्राम के दौरान सरदार वल्लभ भाई पटेल ने किसानों को  खेड़ा  और बारडोली में संगठित करने का काम किया| किसान आंदोलन के प्रभावशाली नेतृत्व के लिए ही उन्हें सरदार की उपाधि मिली| देसी रियासतों को भारत में मिलाने का साहसिक कार्य करने के लिए उन्हें लौह पुरुष कहा गया| 1947 में देश की आजादी के समय 562 रियासते थी सरदार पटेल के प्रयासों से ही अधिकांश ने स्वेच्छा से भारत में मिलना स्वीकार कर लिया| वरीय मंडल कार्मिक अधिकारी अशोक कुमार ने कहा कि जिन रियासतों  ने स्वेच्छा से भारत में मिलना स्वीकार नहीं किया उन्हें सरदार पटेल ने बहादुरी का प्रदर्शन करते हुए अपनी विशेष नेतृत्व क्षमता से भारत में शामिल किया | सरदार पटेल को उनके जन्मदिन पर मंडल कार्यालय में भी याद किया गया और उनकी तस्वीर पर मंडल रेल प्रबंधक अतुल्य सिंहा द्वारा माल्यार्पण किया गया| माल्यार्पण के बाद मंडल रेल प्रबंधक अतुल्य सिन्हा ने रेल कर्मियों को राष्ट्रीय एकता की शपथ दिलाई| सभी अधिकारियों और रेल कर्मचारियों ने राष्ट्र की एकता अखंडता और सुरक्षा को बनाए रखने के लिए समर्पित रहने तथा सरदार वल्लभ भाई पटेल की दूरदर्शिता एवं कार्यों से प्राप्त एकता की भावना को सुनिश्चित करने का संकल्प लिया|

Post A Comment: