रंजीत सिंह/अरुण साहू  की रिपोट
 सुलतानपुर  
 प्रदेश सरकार की उपेक्षा का शिकार बनी जिले की नवनिर्मित पांचवी तहसील बल्दीराय में उपजिलाधिकारी प्रतिपाल सिंह को तैनाती के बाद शुमार गया है क्षेत्रवासी श्री सिंह की समाज हित में उठाए गए कदम की सराहना कर रहे हैं उल्लेखनीय है कि सपा सरकार के कार्यकाल में बल्दीराय को जिले की पांचवी तहसील के रूप में दर्जा मिला था सपा की सत्ता बदलते ही इस नवनिर्मित तहसील का कार्य राम भरोसे पर ही चल रहा था क्षेत्रवासी तहसील होने के बावजूद भी कार्य करवाने के लिए जिला मुख्यालय का चक्कर लगा रहे थे शासन ने इस नवनिर्मित तहसील के भवन निर्माण के लिए जमीन भी तहसील के नाम करवा दी लेकिन बजट के अभाव में निर्माण कार्य कोसो दूर है इधर प्रशासन द्वारा कई अधिकारियों को इधर-उधर किया लेकिन किसी अधिकारी ने जनता की सुविधा को तवजबो नहीं दिया इस बार नवनिर्मित तहसील में उपजिलाधिकारी प्रतिपाल सिंह तहसीलदार शैलेंद्र नायब तहसीलदार अमरनाथ पाल की तैनाती हुई तो अधिकारियों का रुख जनता की परेशानी को दूर करने की ओर गया तो क्षेत्रवासी मददगार हो गए बता दें कि उपजिलाधिकारी प्रतिपालसिंह नायब तहसीलदार अमरनाथ पाल लेखपाल त्रिलोकीनाथ की अगुवाई में तहसील के वैकल्पिक भवन परिसर में बने तहसील का कर्यालय संचालित  किया गया पश्चात इसके  उपजिलाधिकारी श्री सिंह के प्रयास के बाद ही परिसर में ही उप मजिस्टेट  न्यायालय का नया भवन का निर्माण कार्य कराया गया इस भवन के निर्माण पूरा होने से अब न्यायालय में जल्द ही मुकदमे की सुनवाई होने लगेगी इसके बावजूद परिसर में एक बड़े हाल का निर्माण कार्य शुरू है जिसमें तहसील के अन्य  बिभाग़ भी शिफ्ट हो जाएंगे उपजिलाधिकारी श्री सिंह के अथक प्रयास से ही नवनिर्मित तहसील में शुमार आ गया है वर्षों से क्षेत्रवासियों की चली आ रही प्रबल समस्या का समाधान हो गया है उपजिलाधिकारी प्रतिपाल सिंह द्वारा समाज के हित में की गई इस अनूठी पहल की सराहना क्षेत्रवासियों ने की है

इनसेट मे
उपजिलाधिकारी प्रतिपाल सिंह ने बताया कि तहसील भवन निर्माण के लिए शासन के बजट का इंतजार किया जाता तो समस्या और प्रबल हो जाती क्षेत्र की जनता को जरा से कार्य के लिए 45 किलोमीटर दूर जिला मुख्यालय तक चक्कर लगाना पड़ रहा  था जो उनके लिए परेशानी का सबब था  जो जल्द ही जनता की समस्या का समाधान हो जायेगा

Post A Comment: