हथियार बंद अपराधियो  ने पुलिस बनकर बम धमाकों के बीच शिक्षक सहित चार घरो में डाका 

मुज़फ़्फ़रपुर मोतीपुर से राहुल कुमार के साथ सुधीर कुमार की रिपोर्ट

मोतीपुर ( मुजफ्फरपुर ):  कांटी थाना क्षेत्र के बकटपुर गांव के पूर्वी टोला में सोमवार की  रात हथियार बंद अपराधियो  ने पुलिस बनकर बम धमाकों के बीच शिक्षक सहित चार घरो में डाका डालकर नकदी सहित 7 लाख रुपये मूल्य की सम्पति लूट ली। इस दौरान अपराधियो ने गृहस्वामी सहित उनके परिजनों के साथ जमकर मारपीट भी की। वही बम मारकर दो लोगो को जख्मी कर दिया। अपराधियो द्वारा फेके गए बम से जख्मी हो गया। महज दस मिनट के अंतराल में डकैती की घटना को अंजाम दिया गया। घटना की सूचना मिलते ही प्रभारी डीएसपी गौरव पांडेय कांटी पुलिस के साथ रात्रि में ही गांव पहुच गए। स्वान दस्ता को भी बुलाया गया। लेकिन स्वान दस्ता को कामयाबी नही मिली। पूरी रात पुलिस ने इलाके में छापेमारी की। मामले में पुलिस तीन संदिग्ध लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। घटना की बाबत अज्ञात के खिलाफ थाना में प्रथमिकी दर्ज की गई है। जानकारी के अनुसार 25 से 30 की संख्या में लाठी डंडे हथियार के साथ पहुचे अपराधि ने पहले महेंद्र दास के घर पर पहुचे शराब बेचने की बात कहकर घर मे प्रवेश कर गए। परिजनो को बंधक बनाकर जमकर लूटपाट की। अपराधियो ने उनके घर से 25 हजार रुपए, आभूषण आदि सामान लूट ली। हथियार के बलपर गृहस्वामी की पुत्री चंदा कुमारी, पत्नी शिवकुमारी देवी के नाक एंव कान का आभूषण खोलवा ली। अपराधियो ने विरोध करने पर गृहस्वामी सहित पुत्री एंव पत्नी के साथ जमकर मारपीट की। इसके बाद अपराधियो ने रामसहाय दास के घर पर धावा बोला। उनके घर से नकदी 5 हजार रुपये, आभूषण सहित अन्य सामान लूट ली। यहां भी अपराधियो ने गृहस्वामी के अलावे उनकी पत्नी उमा देवी की जमकर पिटाई कर दी। यहां के बाद अपराधी बगल के रूपेश दास के घर को निशाना बनाया। उनके घर मे जमकर लूटपाट की गई। घर से मोबाइल फोन , नकदी 5 हजार रुपये, आभूषण लूट ली। लूट का विरोध करने पर रूपेश दास की जमकर पिटाई कर दी। इस टोले से जाते वक्त अपराधियो ने दो बम विस्फोट भी किए। तीनो घरो में डकैती की घटना को अंजाम देने के बाद सभी अपराधी गांव के शिक्षक कौशलकिशोर सिंह के घर पर पहुचे।  शराब बेचने की बात कहकर अचानक घर मे प्रवेश कर गए। उस समय गृहस्वामी सपरिवार जगे ही हुए थे। अपराधियो ने पहले हथियार दिखाकर परिवार के महिलाओं के कान एंव नाक का सोने का आभूषण उतरवा ली। फिर बारी बारी से घर के सभी कमरों में घुसकर पेटी, गोदरेज, बक्सा को तोड़कर तकरीबन चार लाख रुपये मूल्य की सोने का आभूषण लूट ली। महिलाओं के साथ मारपीट भी की।  अपराधियो ने गृहस्वामी कौशलकिशोर सिंह, उनकी पत्नी रंजना देवी सहित परिवार के और महिलाओं के साथ मारपीट की। ग्रामीणों के जागरण हो जाने के कारण अपराधी ताबड़तोड़ बम विस्फोट करने लगे। ग्रामीनोंपर बम भी चलाया गया। बम से गृहस्वामी के पड़ोसी चंदन कुमार एंव विभेष कुमार जख्मी हो गए। अपराधियो ने गृहस्वामी के चचेरे भाई प्रभु प्रसाद सिंह, राहुल कुमार की लाठी डंडे से मारपीट कर घायल कर दिया। जाते वक्त भी अपराधियो ने दहशत फैलाने के लिए पांच बम फोड़े। घटना को अंजाम देने के बाद सभी अपराधी दक्षिण दिशा की ओर भाग निकले। शिक्षक के यहां डकैती की यह दूसरी घटना है। 1976 में भी इनके घर पर डकैती की घटना हुई थी। सूचना पाते ही प्रभारी डीएसपी गौरव पाण्डेय, कांटी थानाध्यक्ष सोना प्रसाद स्वान दस्ता के साथ तत्काल घटनास्थल पहुचे। पुलिस ने घटनास्थल से बम कुछ अवशेष बरामद किया। स्वानदस्ता को कामयाबी नहीं मिल सकी। थानाध्यक्ष ने बताया कि घटना को लेकर शिक्षक कौशलकिशोर सिंह के बयान पर थाना में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। डकैती में शामिल अपराधियो का पता चल गया है। गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। कुछ संदिग्दधो को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। सभी अपराधी 30 से 35 वर्ष के उम्र के थे। इनमें से कुछ धोती-कुर्ता व लूंगी, शर्ट पहन रखा था।

Post A Comment: