एक एमबीबीएस के भरोसो सिंघीया अस्पताल संचालित
चीफ एडिटर कृष्ण कुमार संजय
बिहार के समस्तीपुर जिले के सिंघीया प्रखण्ड स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सिंघीया मात्र एक एमबीबीएस के सहारे संचालित हो रही है जबकि इस हॉस्पिटल में प्रत्येक दिन 300से350 मरीज इलाज करवाने पहुंचते है।पूर्व में दो एमबीबीएस चिकित्सक डॉ मो अंसारी एवं डॉ राजू चौधरी पद स्थापित थे जिसमें से प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी मो0 अंसारी को फिलहाल राज्य सरकार के द्वारा दूसरे जगह स्थानांतरण कर दी गई है।अब मात्र एक एमबीबीएस डॉ राजू चौधरी ही रह गए हैं,इस अस्पताल की भगौलिक स्थिति ऐसी है कि बिरौल बहेड़ी कुशेश्वरस्थान हसनपुर प्रखण्ड के सीमावर्ती लोग भी इसी हॉस्पिटल में इलाज करवाने पहुंचते है ।डॉ राजू चौधरी ने बताया कि तीन एडिशनल डॉ के सहयोग से इस अस्पताल को बड़ी ही कठिनाई से संचालत कर रहा हूँ जबकि एडिशनल में भी कुल5 चिकित्सक का पद सृजित हैं।शुम्भा ड्योढ़ी और अकौना एडिशनल में एक भी चिक्तिसक पद स्थापित नही है।बताया गया कि पीएचसी के लिये कुल 7एमबीबीएस की पद सृजित है सीएससी के लिये कुल 18चिकित्सक का पद सृजित है जिसमे मात्र एक चिकित्सक ही पदस्थापित है।4ड्रेसर में एक भी ड्रेसर कार्यरत नही है 5फार्मासिस्ट में मात्र एक फार्मासिस्ट कार्यरत है।52 एएनएम में मात्र26 एएनएम ही कार्यरत है।वाहन के मामले में तो दिखावे में तो दो एम्बुलेंस है लेकिन कार्यरत के मामले में मात्र एक ही एम्बुलेंस ठीक है दूसरी एम्बुलेंस एक महीना से खराब पड़ी हुई है जिससे मरीजों को कही ले जाने में परेसानी होती रहती है दूसरे प्राइवेट गाड़ी से इमरजेंसी  मरीज को अन्यत्र जाना पड़ता है

Post A Comment: