रिपोर्ट    अजीत कुमार यादव
बहराइच 
 जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी रेखा गुप्ता ने जानकारी दी है कि पूर्वदशम/दशमोत्तर छात्रवृत्ति एवं शुल्क प्रतिपूर्ति योजनान्तर्गत राज्य स्तर (एन.आई.सी.) से पी.एफ.एम.एस. पोर्टल के माध्यम से छात्रों के बैंक खातों में सीधे आनलाइन माध्यम से छात्रवृत्ति एवं शुल्क प्रतिपूर्ति की धनराशि अन्तरण की कार्यवाही की जाती है। उन्होंने बताया कि कभी कभी कतिपय छात्र-छात्राओं के विभिन्न कारणों से एकाउण्ट बन्द/ब्लाक्ड होने, कोई ट्रांजेक्शन होना (तीन माह से), एकाउण्ट की लिमिट कम होने, एकाउण्ट होल्डर का माइनर होना, के.वाई.सी. पेन्डिंग होने, ज़ीरो बैलेन्स होने इत्यादि कारणों से आनलाइन माध्यम से की गयी अन्तरण की कार्यवाही फेल हो जाने के फलस्वरूप सम्बन्धित के खातों में धनराशि का अन्तरण नहीं हो पाता है, और वह लाभ से वंचित हो जाते हैं।
उपरोक्त परिस्थितियों को दृष्टिगत रखते हुए जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी ने शिक्षण संस्थानों एवं छात्र-छात्राओं से अपेक्षा की है कि अपने बैंक खातों का जायज़ा लेकर यह सुनिश्चित कर लें कि कोई ऐसी समस्या न रहे जिससे धनराशि अन्तरण की कार्यवाही फेल हो जाये। उन्होंने कहा कि यदि किसी के बैंक खाते में ऐसी कोई समस्या है तो तत्काल उसका निस्तारण करा लें ताकि वर्ष 2018-19 में पी.एफ.एम.एस. पोर्टल के माध्यम से आनलाइन प्रेषित की जाने वाली धनराशि सम्बन्धित पात्र छात्र-छात्राओं के खातों में अंतरित हो सके। 
                 

Post A Comment: