रायसिंहनगर क्षेत्र में बढ़ रहा है डेंगू का प्रकोप, चि
कित्सा महकमे के रिकॉर्ड में नहीं है एक भी डेंगू पीड़ित। जबकि डेंगू पीड़ित 84 लोग निजी अस्पतालों में भर्ती। विधायक सोना देवी बावरी ने डेंगू पीड़ित लोगों से की मुलाकात।

रायसिंहनगर।रायसिंहनगर क्षेत्र में लगातार डेंगू पांव पसारता जा रहा है लेकिन चिकित्सा महकमा डेंगू को लेकर गंभीर नहीं है। रायसिंहनगर विधायक सोनादेवी बावरी अपने क्षेत्र के डेंगू से पीड़ित मरीजों से मिलने के लिये श्रीगंगानगर के तपोवन पहुँची ।गत दिनों सोना देवी बावरी स्वयं को एन.एस.1(डेंगू संभावित)हो गया था। जबकि रायसिंहनगर का चिकित्सा महकमा डेंगू को लेकर गंभीर नहीं है। चिकित्सा विभाग के रिकॉर्ड में डेंगू पीड़ित एक भी मरीज नहीं है। तो वही सच्चाई कुछ और है रायसिंहनगर क्षेत्र से 84 डेंगू पीड़ित मरीज निजी अस्पतालों में भर्ती है।विधायक 6 दिनों तक तपोवन अस्पताल में भर्ती रही थी।उस समय उनकी मात्र आठ हज़ार प्लेटलेट्स रह गई थी।आज तपोवन अस्पताल में आने पर उन्होंने अस्पताल में भर्ती डेंगू से प्रभावित मरीजों की संख्या देखी तो हैरानी जाहिर की।तपोवन हॉस्पिटल में उस समय 22 डेंगू प्रभावित मरीज भर्ती थे रायसिंहनगर श्रीविजयनगर रामसिंहपुर व अनूपगढ़ घड़साना क्षेत्र कैं बहुत ज्यादा मरीज थे। विधायक ने एक एक मरीज के पास जाकर उनके हालचाल पूछे और विधायक ने डेंगू के दिनों-दिन बढ़ते प्रकोप को स्वास्थ्य विभाग की घोर लापरवाही बताया।मौके पर ही विधायक ने चिकित्सा मंत्री से फोन पर बात की और डेंगू की रोकथाम के लिये किये जा रहे इंतजाम करवाने की मांग की।विधायक ने राज्य सरकार व स्वास्थ्य विभाग को जल्दी से इतंजामो में सुधार की मांग की। विधायक के निरीक्षण के दौरान तपोवन ब्लड बैंक के अध्यक्ष उदयपाल झाझड़िया ने हॉस्पिटल की सारी जानकरी दी व अस्पताल का अवलोकन करवाया।

Post A Comment: