राजपाल यादव और सुनील पाल ने की 'इंग्लिश की टांय टांय फिस्स'
चीफ एडिटर कृष्ण कुमार संजय

कॉन्टेन्ट, क्वालिटी और टाइटल ये ऐसी तिकड़ी है जो किसी भी फिल्म को बॉक्स ऑफिस को मालामाल कर सकती है। निर्माता संजीत कुमार ठाकुर, शिवप्रसाद शर्मा और जाने माने निर्देशक शैलेंद सिंह राजपूत ने सिद्धिका सिने क्राफ्ट के बैनर तले बनी हिंदी फिल्म 'इंग्लिश की टांय टांय फिस्स' में इसी का सहारा लिया है जिससे फिल्म दर्शकों की पसंद के पैमाने पर खरी साबित हो सके। फिल्म के टाइटल से ही साफ ज़ाहिर होता है कि यह फिल्म इंग्लिश लैंग्वेज को लेकर एक हास्य व्यंग्य है जिसकी पृष्ठभूमि एक गांव है जहां का सरपंच गांव को आदर्श रूप देने में कोई कमी नहीं छोड़ना चाहता। उसका बेटा विदेश रहता है, जो एक दिन अपने दो विदेशी दोस्तों के साथ गांव आता है जिनमें एक लडक़ी भी है। इनका आमना-सामना जब अंग्रेज़ी में अनपढ़ गांववासियों से होता है, तो हास्य की दिलचस्प स्थितियां पैदा होती हैं।
    क्या गांव का कायाकल्प हो पाएगा और उस दौरान क्या घटनाएं घटित होंगी, यह फिल्म का अहम पहलू है। इस फिल्म की लेखिका मिनल म्हात्रे राजपूत है l फिल्म का संगित संदीपश्री का है l फिल्म में राजपाल यादव और सुनील पाल ने कॉमेडी का जबरदस्त तड़का लगाया है। लेकिन हैरान कर देने वाली बात तो ये है कि कॉमेडी का फुल डोज़ देने वाली इस फिल्म के कुछ दृश्य ऐसे थे जिन्हें देखकर सेट पर मौजूद लोगों की आंखों में आंसू आ गए। एक्टर रोहित कुमार की यह डेब्यू फिल्म है जिसमें उनके साथ हैं रूसी अभिनेत्री लिजन करिमोवा। साथ में मनोज जोशी, गोविंद नामदेव, विजू खोटे और मुश्ताक खान का भी फिल्म में अहम रोल है। फिल्म में पांच गीत हैं जिनमें एक प्रमोशनल सॉन्ग है जिसे मशहूर सिंगर शान ने गाया है। सह निर्माता हैं मनोज खंडेलवाल। यह फिल्म समस्त भारत में 7 दिसम्बर को रिलीज हो रही है ।

Post A Comment: