चतरा:-
वशिष्ठ नगर जोरी थाना क्षेत्र अंतर्गत झारखंड-बिहार सीमा पर स्थित कुरखेता जंगल में पुलिस और नक्सलियों के बीच भीषण मुठभेड़ हुई। करीब तीन घंटे चले इस मुठभेड़ में भाकपा माओवादी का एक शीर्ष नक्सली मारा गया। इंसास राइफल समेत भारी संख्या में नक्सली साहित्य और गोलियां बरामद हुई है।

अपर पुलिस अधीक्षक अभियान निगम प्रसाद के नेतृत्व में चतरा पुलिस के पदाधिकारी और जवान जंगल की घेराबंदी कर सर्च अभियान चलाया।जानकारी के अनुसार पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि भाकपा माओवादी का एक दस्ता रिजनल कमांडर आलोक के नेतृत्व में क्षेत्र में बड़ी घटना को अंजाम देने के उद्देश्य से इलाके में सक्रिय है। इसी सूचना पर त्वरित कार्रवाई करते हुए राजपुर पुलिस और सीआरपीएफ और कोबरा बटालियन के जवानों को अभियान के लिए जंगल में भेजा गया था।
अभियान के दौरान तड़के सुबह करीब छह बजे सुरक्षाबलों की भाकपा माओवादी नक्सलियों से मुठभेड़ हुई। इस दौरान दोनों ओर से करीब एक हजार राउंड गोलियां चली है। जानकारी के अनुसार करीब तीन घंटे तक चली इस मुठभेड़ में एक नक्सली मारे गए, नक्सली के नाम की पुष्टि अभी कोई भी अधिकारी नहीं कर रहा है।वहीं, मौके से पुलिस ने एक इंसास रायफल समेत भारी संख्या में नक्सली साहित्य और गोलियां बरामद की है। तीन नक्सलियों को भी गिरफ्तार किया गया है। हालांकि मुठभेड़ के बाद आलोक दस्ते के अन्य नक्सली जंगल का लाभ उठाकर भागने में सफल रहे।पुलिस पदाधिकारी सर्च अभियान के बाद कुछ कहने की बात कर रहे हैं।
मृतक का नाम सूत्रों के अनुसार रवि यादव उर्फ सुदर्शन है। जो राजपुर थाना क्षेत्र के सिकिद गांव का रहने वाला है। भाकपा माओवादी का कमांडर है।

Post A Comment: